June 15, 2024 : 3:51 PM
लाइफस्टाइल

लॉकडाउन के बीच इन प्राणायाम के जरिये रखें खुद को स्वस्थ

दैनिक भास्कर

Apr 07, 2020, 05:23 PM IST

स्वस्थ शरीर ही एक अच्छे जीवन की निशानी है. तभी आजकल लोग अपने शरीर को तंदरुस्त रखने के लिए तरह -तरह के व्यायाम और जिम में जा कर घंटों मेहनत करते हैं. लेकिनं कोरोना वायरस और लॉकडाउन के चलते लोग अब घर पर ही रहने को मजबूर हो गए हैं. इस वजह से लोगों के शारीरिक स्वास्थ्य भी काफी प्रभावित हो रहा है. 

इसलिए दैनिक भास्कर और सर्वा स्टूडियो आप सभी के लिए स्वस्थ रहने का मंत्र ले कर आया है. ताकि आप घर बैठे ही कुछ आसान स्टेप्स का पालन करके शारीरिक और मानसिक शांति प्राप्त कर सकें. आज इस वीडियो में हम आपको प्राणायाम का अभ्यास करना सिखायेंगें. प्राणायाम न केवल आपके शरीर को चुस्त और तंदरुस्त करता है बल्कि ये आपके इम्यून सिस्टम को भी बढ़ता है. शरीर से संबंधित कई परेशानियों को दूर करने के लिए प्राणायाम बहुत हद तक कारगर साबित होता है. आज इस वीडियो में आप जानेंगे कि कपालभाति प्राणायाम किस तरह से आपके शरीर और स्वास्थ को सही रखने में मदद करता है.

 इसके बाद अनुलोम विलोम प्राणायाम के बारें में जानेंगे. आपको बता दें कि इस प्राणायाम का अभ्यास हर आयु वर्ग का व्यक्ति आसानी से कर सकता है. ये उन लोगों के लिए ज्यादा लाभदायक है जिन्हें नींद नहीं आती या जो लोग स्ट्रेस ज्यादा लेते हैं उन व्यक्तियों को इस प्राणायाम से काफी लाभ मिलता है. 

वहीं तीसरे प्राणायाम यानी भस्त्रिका प्राणायाम में हम बताएँगे कि ये कैसे आपके फेफड़ों को स्वस्थ रखने में मदद करता है और श्वास नाली को साफ़ करने में भी ये सहायक है. और साथ ही रक्त चाप वाले व्यक्तियों और  ह्रदय रोगियों को ये प्राणायाम सावधानी से करना चाहिए. 

तो आइये इस वीडियो में देखें कि इन सभी प्राणायाम को करने का सही तरीका. इसके साथ ही इस वीडियो में जाने कि इस प्राणायाम को करते समय किन चीजों को ध्यान रखना अवाश्यक है और किन लोगों को इसे करने में सावधानी बरतनी चाहिए. 

Related posts

​​​​​​​जानिए क्यों कर रही है पूरी दुनिया 22 अक्टूबर का बेसब्री से इंतजार; भारतीय वैक्सीन का ट्रायल बांग्लादेश करना चाहता है

News Blast

कोरोना के लक्षण बदलने का मतलब यह नहीं कि वायरस बदल रहा है, लक्षण कुछ लोगों में कम दिखते हैं और कुछ में ज्यादा : एक्सपर्ट

News Blast

पुरुषोत्तम महीने में सिर्फ चार श्लोक के जाप करने से ही मिल सकता है श्रीमद्भागवत पढ़ने का पुण्य

News Blast

टिप्पणी दें