July 16, 2024 : 1:54 AM
Breaking News
MP UP ,CG क्राइम खबरें टेक एंड ऑटो बिज़नेस ब्लॉग मनोरंजन राज्य राष्ट्रीय लाइफस्टाइल हेल्थ

जिंदा महिला को डॉक्टरों ने बताया मरा हुआ; भेजा पोस्टमॉर्टम के लिए, पति ने हाथ पकड़ा और

MP Big News: मध्य प्रदेश के ग्वालियर जिले में लापरवाह डॉक्टरों ने यूपी की एक जिंदा महिला को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया.

MP Big News: मध्य प्रदेश के ग्वालियर जिले में लापरवाह डॉक्टरों ने यूपी की एक जिंदा महिला को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया.

MP Big News: एक महिला को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया और उसकी बॉडी पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दी. लेकिन, पोस्टमॉर्टम रूम में घुसने से ठीक पहले जब पति ने पत्नी का हाथ पकड़ा
तो चौंक गया. उसकी नब्ज चल रही थी. उसने फिर जांच की तो महिला की धड़कन और सांस भी चल रही थी. इसके बाद अस्पताल में हड़कंप मच गया. मामला मध्य प्रदेश के ग्वालियर के जयारोग्य चिकित्सालय का है. ये घोर लापरवाही के सामने आने के बाद अस्पताल अधीक्षक डॉ. आरकेएस धाकड़ ने जांच समिति गठित कर लापरवाह डॉक्टर पर कार्रवाई की बात कही है.

ग्वालियर. ग्वालियर-चंबल अंचल के सबसे बड़े अस्पताल जयारोग्य चिकित्सालय समूह में डॉक्टरों की बड़ी लापरवाही सामने आई है. यहां गंभीर हालात में इलाज के लिए ट्रॉमा सेंटर पहुंची महिला को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया. इसके बाद उसे पोस्टमार्टम के लिए भी रवाना कर दिया. पोस्टमॉर्टम रूम में जाने से पहले जब पति ने आखिरी बार पत्नी का हाथ पकड़ा और नब्ज टटोली तो वह जिंदा निकली.

उसके बाद हॉस्पिटल में हड़कंप मच गया. महिला को फिर ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया. अब उसका यहां दोबारा इलाज किया जा रहा है. लापरवाही के सामने आने के बाद अस्पताल अधीक्षक डॉ. आरकेएस धाकड़ ने एक्शन लिया है और जांच समिति गठित कर लापरवाह डॉक्टर पर कार्रवाई की बात कही है.गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के महोबा निवासी जामवती सड़क हादसे का शिकार हो गई थीं. उनसे बाद परिजनों ने उन्हें झांसी के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया. उनकी गंभीर हालत देखते हुए डॉक्टरों ने उन्हें ग्वालियर के जयारोग्य अस्पताल रेफर कर दिया. यहां जामवंती को ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कर दिया गया. डॉक्टरों ने उनकी जांच की और महिला को मृत घोषित कर दिया. जबकि, किसी भी मरीज की डेथ घोषित करने से पहले ECG किया जाना भी जरूरी होता है. लेकिन, ड्यूटी डॉक्टर किशन और एनेस्थीसिया डॉ. इमरान ने महिला को मृत घोषित करते हुए पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया.

पति ने हाथ पकड़ा तो चल रही थी धड़कन

पोस्टमॉर्टम हाउस के गेट खुलने का इंतजार कर रहे  पति ने पत्नी के हाथ को आखिरी बार पकड़ा तो उसके होश उड़ गए. उसने पाया कि पत्नी की नब्ज चल रही है. उसने महिला के सीने पर हाथ रखा तो धड़कन भी चल रही थी. महिला सांस भी ले रही थी. पति तत्काल उसे ट्रॉमा सेंटर लेकर पहुंचा, जहां उसे आईसीयू में शिफ्ट किया गया. परिजनों ने इस मामले में जांच की गुहार लगाई है, लिहाजा जयारोग्य अस्पताल के अधीक्षक ने भी एक्शन लिया है. अधीक्षक डॉ आरकेएस धाकड़ ने तीन सदस्यीय जांच कमेटी बनाई है. जांच कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर लापरवाह डॉक्टर पर कार्रवाई की बात कही है.

Related posts

UP Conversion Case: उमर गौतम के ‘सीक्रेट दस्तावेज’ करेंगे उसकी करतूतों का भंडाफोड़ | मास्टर स्ट्रोक

News Blast

अब तक 4.90 लाख केस: एक दिन में सबसे ज्यादा 17 हजार 907 मरीज मिले, पुणे के पिंपरी चिंचवाड़ में महीनेभर में 700% संक्रमित बढ़ गए

News Blast

60 दिन बाद पेरेंट्स से मिले सलमान, राहत कार्य का जायजा भी लिया और पनवेल लौट गए

News Blast

टिप्पणी दें