July 16, 2024 : 2:47 AM
Breaking News
MP UP ,CG अन्तर्राष्ट्रीय करीयर क्राइम खबरें खेल टेक एंड ऑटो ब्लॉग मनोरंजन महाराष्ट्र राज्य राष्ट्रीय

IISc बेंगलुरु को मिला भारत का सबसे शक्तिशाली सुपर कंप्यूटर ‘परम प्रवेगा’, जानिए इसकी खासियत

IISc बैंगलुरु स्थित परम प्रवेगा सुपर कंप्यूटर. (Photo-IISc)

Supercomputer Param Pravega: इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइसेंज (IISc) बेंगलुरु ने घोषणा की है कि उसने नेशनल सुपरकंप्यूटिंग मिशन के तहत परम प्रवेगा नाम के सुपर कंप्यूटर को कमीशन किया है. दावा किया जा रहा है कि यह सुपर कंप्यूटर देश में अब तक का सबसे पावरफुल सुपर कंप्यूटर है. आईआईएससी के मुताबिक देश के किसी शैक्षणिक संस्थान में इससे बड़ा सुपर कंप्यूटर नहीं है. आईआईएससी के मुताबिक परम प्रवेगा सुपर कंप्यूटर की क्षमता 3.3 पेटाफ्लॉप्स की है.

नई दिल्ली. देश के प्रतिष्ठित विज्ञान संस्थान इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइसेंज (IISc) बेंगलुरु ने घोषणा की है कि उसने नेशनल सुपरकंप्यूटिंग मिशन के तहत परम प्रवेगा नाम के सुपर कंप्यूटर (Supercomputer ) को कमीशन किया है. दावा किया जा रहा है कि यह सुपर कंप्यूटर देश में अब तक का सबसे पावरफुल सुपर कंप्यूटर है. आईआईएससी के मुताबिक देश के किसी शैक्षणिक संस्थान में इससे बड़ा सुपर कंप्यूटर नहीं है. आईआईएससी के मुताबिक परम प्रवेगा सुपर कंप्यूटर की क्षमता 3.3 पेटाफ्लॉप्स की है. एक पेटाफ्लॉप्स एक क्वाड्रिलियन के बराबर होता है. यानी 10 पर 15 शून्य लगाने से जो संख्या आती है और एक पेटाफ्लॉप्स होता है.

 

परम प्रवेगा Intel Xeon Cascade Lake CPUs और Nvidia Tesla V100 GPUs के विषम नोड्स का मिश्रण है. ATOS BullSequana XH2000 सीरीज प्रणाली का उपयोग करके इस कंप्यूटर की 3.3 पेटाफ्लॉप्स की चरम सुपरकंप्यूटिंग क्षमता हासिल की जाती है. परम प्रवेगा में कंप्यूटर नोड्स के 11 डीसीएलसी रैक, मास्टर सर्विस नोड्स के दो सर्विस रैक और डीडीएन स्टोरेज के चार स्टोरेज रैक शामिल हैं.

ये हैं खासियत
आईआईएससी के मुताबिक परम प्रवेगा का हार्डवेयर ATOS BullSequana XH2000 सीरीज का है. इसके सॉफ्टवेयर को C-DAC ने उपलब्ध कराया है. यह सुपर कंप्यूटर मशीन उच्च प्रदर्शन कंप्यूटिंग (एचपीसी) अनुप्रयोगों के विकास और निष्पादन के लिए प्रोग्राम डेवलपमेंट टूल्स, यूटिलिटीज और लाइब्रेरी की एक सीरीज को होस्ट कर सकती है. परम प्रवेगा में कंप्यूटिंग नोड्स का 11 DCLC racks है. इसके अलावा दो सर्विस रैक और चार स्टोरेज रैक है. इसके नोड के कॉन्फ़िग्रेशन में दो मास्टर नोड, 11 लॉगिन नोड, दो फ़ायरवॉल नोड, चार मैनेजमेन्ट नोड, एक NIS स्लेव और 624 कंप्यूट – CPU + GPU-नोड्स शामिल हैं. कंप्यूटर नोड्स को को आगे तीन श्रेणियों में विभाजित किया गया है – रेगुलर सीपीयू नोड्स, हाई-मेमोरी सीपीयू नोड्स और जीपीयू नोड्स. सभी नोड्स Mellanox high-speed HDR से जुड़े हुए हैं. परम प्रवेगा को Linux OS1 ऑपरेटिंग सिस्टम के आधार पर बनाया गया है. यह CentOS 7.x डिस्ट्रीब्यूशन पर आधारित है.

पहले भी बनाया है सुपरकंप्यूटर
आईआईएससी ने इससे पहले भी सुपर कंप्यूटर बनाया है. आईआईएससी ने 2015 में SahasraT सुपर कंप्यूटर इंस्टॉल किया था, जो उस समय भारत का सबसे तेज सुपरकंप्यूटर था. इस SahasraT का उपयोग IISc ने COVID-19 और अन्य संक्रामक रोगों पर शोध के लिए किया है. SahasraT के माध्यम से हरित ऊर्जा तकनीकी, जलवायु परिवर्तन आदि के क्षेत्र में महत्वपूर्ण लाभ मिला है. IISc का लक्ष्य परम प्रवेग के साथ इस तरह के शोध को बढ़ाना है.

Related posts

कोरोना संक्रमण से एकदम राहत: रीवा जिले की पॉजिटिविटी दर 2.12 पहुंची, नए 31 मरीज मिले संक्रमित, अब 1014 एक्टिव केस ठीक करने पर फोकस

Admin

स्पेन की फुटबॉल लीग के 5 खिलाड़ी संक्रमित; ईपीएल की बैठक से पहले ब्राइटन के एक और प्लेयर की रिपोर्ट पॉजिटिव आई

News Blast

Israel Embassy : Delhi Blast का ईरानी Connection | Ground Report

Admin

टिप्पणी दें