June 15, 2024 : 4:11 PM
MP UP ,CG क्राइम खबरें खेल टेक एंड ऑटो ताज़ा खबर बिज़नेस ब्लॉग महाराष्ट्र राज्य राष्ट्रीय लाइफस्टाइल हेल्थ

जबलपुर के कोतवाली थाने में 13 घंटे तक हाई वोल्टेज ड्रामा, टीआइ पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली आरक्षक मुकरी

शादी करो वरना जान दे दूंगी…। पुलिस विभाग में महिला आरक्षक की इस धमकी का पटाक्षेप बिना किसी शिकवा शिकायत के हुआ। हालांकि इस बीच करीब 13 घंटे तक कोतवाली थाने में हाई वोल्टेज ड्रामा चलता रहा।

 

बुधवार शाम करीब छह बजे से कोतवाली थाने में महिला आरक्षक और थाना प्रभारी के बीच गहमागहमी और मान मनोवल का दौर चलता रहा। जो गुरुवार सुबह करीब सात बजे खत्म हो पाया। महिला आरक्षक ने पुलिस थाने में लिखित में दिया कि वह थाना प्रभारी के खिलाफ किसी भी तरह की कार्रवाई नहीं चाहती।कोतवाली पुलिस ने महिला आरक्षक के माता-पिता तथा थाना प्रभारी की पत्नी समेत अन्य स्वजन को थाने में बुलवा लिया था। दोनों पक्षों के बीच हुई बातचीत के बाद महिला आरक्षक ने किसी तरह की कार्रवाई न करने संबंधी पत्र सौंपा। हालांकि इस घटना से पुलिस विभाग की छवि धूमिल हुई।

शादी करो या जान दे दूंगी: एक महिला आरक्षक की जिद ने थाना प्रभारी को मुसीबत में डाल दिया है। आरक्षक व थाना प्रभारी के बीच कोतवाली थाने में घंटों मान मनौवल का दौर चला। थाने में हंगामा मचता रहा। दोनों की हरकतों से पुलिस अधिकारी परेशान हुए। आरक्षक ने थाना प्रभारी के खिलाफ लिखित शिकायत नहीं की है। कोतवाली पुलिस का कहना है कि आरक्षक यदि शिकायत करती है तो उसकी जांच कर कार्रवाई की जाएगी। महिला आरक्षक ने थाना प्रभारी पर शारीरिक शोषण का आरोप लगाया है।जानकारी के मुताबिक पूर्व में जबलपुर में पदस्थ रहे एक थाना प्रभारी वर्तमान में कटनी जिले के एक ग्रामीण थाने में हैं। जबलपुर में पदस्थापना के दौरान महिला आरक्षक से उनकी नजदीकियां बढ़ गई थीं। दोनों के बीच कथित शारीरिक संबंध स्थापित हो गए थे। थाना प्रभारी ने आरक्षक को शादी का भरोसा दिया था। कटनी स्थानांतरण के बाद भी थाना प्रभारी की महिला आरक्षक से मुलाकात होती रही। उसने कई बार शादी करने का दबाव बनाया। थाना प्रभारी उसे आश्वासन देते रहे। आरक्षक को पता चला कि थाना प्रभारी कोतवाली थाना क्षेत्र स्थित अपने घर पर हैं। वह वहां पहुंच गई और हंगामा करने लगी।उसने कहा कि थाना प्रभारी उसके साथ शादी करें अन्यथा वह नर्मदा में कूदकर जान दे देगी। घर पर हुए हंगामे के बाद आरक्षक जान देने के लिए ग्वारीघाट रवाना हुई। इस बीच उसने पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा समेत आला अधिकारियों को फोन कर साथ हुई घटना की जानकारी और यह भी कहा कि थाना प्रभारी शादी करने से मुकर रहा है इसलिए वह आत्महत्या करने के लिए ग्वारीघाट जा रही है। आरक्षक की वेदना सुनते ही पुलिस अधिकारी हरकत में आ गए और उसकी तलाश शुरू कर दी। बुधवार शाम करीब 5:30 बजे पुलिस उस तक पहुंची। शाम करीब 6:00 बजे उसे कोतवाली थाने लाया गया और आरोपित थाना प्रभारी को भी बुलवाया गया। पुलिस अधीक्षक ने अधीनस्थों को निर्देश दिया कि महिला आरक्षक की शिकायत को गंभीरता से लेते हुए आरोप थाना प्रभारी के खिलाफ कार्रवाई की जाए। कोतवाली थाना पहुंचे थाना प्रभारी व आरक्षक के बीच गहमा गहमी होती रही।

विवादों से रहा है नाता: जिस थाना प्रभारी पर महिला आरक्षक ने शारीरिक शोषण का आरोप लगाया उनका विवादों से गहरा नाता रहा है। नरसिंहपुर जिले में पदस्थापना के दौरान थाना प्रभारी के खिलाफ दुष्कर्म की एफ दर्ज की गई थी, हालांकि इस मामले से वे बच निकले थे। इसी तरह रीवा जिले में पदस्थापना के दौरान पुरातन महत्व की मूर्तियों की चोरी में उन्होंने विभाग की छवि धूमिल की थी हालांकि इस प्रकरण में भी वे साफ बच गए थे। जबलपुर में पदस्थापना के दौरान रिश्वतखोरी के प्रकरण में बमुश्किल उनकी जान बच पाई थी।

वर्तमान में कटनी जिले में पदस्थ हैं। जिस थाने में उनकी पदस्थापना की गई है उस थाना क्षेत्र में रहने वाली दो महिलाओं से उनकी नजदीकियों की चर्चा पूरे कटनी जिले में जोर पकड़ रही है।

Related posts

दोस्ती, न्यूडिटी और ब्लैकमेलिंग… गिरफ्तार हुआ सेक्सटोर्शन कराने वाला ‘ACP’, खुले कई राज

News Blast

अर्थव्यवस्था दे रही दूसरी लहर से उबरने के संकेत:सरकार के राहत पैकेज और RBI के उपायों का असर, टीकाकरण में तेजी का भी फायदा हुआ

News Blast

कोरोना महामारी में जरूरत पड़ने पर हेल्थ टॉप-अप प्लान से बढ़ाएं हेल्थ इंश्योरेंस कवर, इसमें कम खर्च में मिलती है ज्यादा मदद

News Blast

टिप्पणी दें