May 31, 2024 : 4:34 AM
Breaking News
अन्तर्राष्ट्रीय करीयर खबरें खेल ताज़ा खबर मनोरंजन राष्ट्रीय लाइफस्टाइल हेल्थ

नोवाक जोकोविचः वैक्सीन विवाद ऑस्ट्रेलिया

दुनिया के शीर्ष टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविक को पिछले सप्ताह ऑस्ट्रेलिया पहुंचने पर प्रवासी हिरासत केंद्र में रखे जाने की घटना से विवाद पैदा हो गया है और यह मामला अदालत में पहुंच गया है. हर तरफ़ निराशा और क्रोध है.

अधिकतर लोग ऑस्ट्रेलियाई प्रशासन पर आक्रोशित थे, फिर भले ही वो संघीय सरकार हो या विक्टोरिया प्रांत की सरकार.

इस परिस्थिति का जिस तरह से कुप्रबंधन हुआ उसे लेकर अविश्वास की भावना भी पैदा हुई है. माना जा रहा है कि संवाद और राजनीतिक खींचतान में भारी चूक हुई है.

जोकोविच को बुधवार को ऑस्ट्रेलिया पहुंचना था. वो यहां बहुत चर्चित खिलाड़ी नहीं हैं और उन्हें लेकर ग़ुस्सा भी था.

एक समय लग रहा था कि ये कहानी सीधी है.

जोकोविच एक विश्व प्रसिद्ध खिलाड़ी हैं जिन्होंने सार्वजनिक तौर पर कोविड वैक्सीन का विरोध किया है. उन्हें ऑस्ट्रेलिया में खेलने के लिए कथित तौर पर छूट दी गई थी. हालांकि ऑस्ट्रेलिया ने दुनिया में सबसे सख़्त कोरोना संबंधी नियम लागू किए हैं.

इसमें कोई हैरत की बात नहीं है कि इस क़दम ने ऑस्ट्रेलिया में आक्रोश पैदा किया. ऑस्ट्रेलिया के आम लोगों को देश में आज़ादी से आवागमन करने के लिए टीका लगवाना अनिवार्य है.

लेकिन जब जोकोविच मेलबर्न एयरपोर्ट पर पहुंचे तो घटनाक्रम नाटकीय हो गया.

ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री ने क्या कहा

जनता के आक्रोश पर प्रतिक्रिया देते हुए ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने बुधवार को कहा कि जोकोविच को छूट देने का फ़ैसला विक्टोरिया की प्रांतीय सरकार का है. जोकोविच ऑस्ट्रेलियाई ओपन में हिस्सा लेने के लिए पहुंचे थे.

इसके कुछ घंटे बाद ही ऑस्ट्रेलियाई गृह मंत्री केरेन एंड्र्यूज़ ने प्रधानमंत्री से विरोधाभासी बयान दिया और कहा कि ‘भले ही टेनिस ऑस्ट्रेलिया और विक्टोरिया सरकार एक बिना टीका लगवाए खिलाड़ी को खेलने की अनुमति दे दे, लेकिन संघीय सरकार देश की सीमाओं पर अपने नियमों को लागू करेगी.’

अगले दिन जब ये पता चला कि 34 वर्षीय जोकोविच का वीज़ा रद्द कर दिया गया है और उन्हें वापस भेजा जाएगा तो प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने भी पक्ष बदल लिया.

प्रधानमंत्री ने कहा, “नियम नियम हैं.”

चौबीस घंटे के भीतर ही प्रधानमंत्री मॉरिसन ने यू-टर्न ले लिया. उन्होंने शुरुआत में कहा था कि सर्बियाई खिलाड़ी नोवाक जोकोविच का ऑस्ट्रेलियाई ओपन में हिस्सा लेना विक्टोरिया की प्रांतीय सरकार का विषय है. इसके बाद उन्होंने संघीय नियमों का समर्थन किया.

इस परिस्थिति के पीछे हो रही राजनीति को नज़रअंदाज़ किया जाना मुश्किल है.

केंद्र सरकार और विक्टोरिया सरकार में खींचतान

प्रांतीय सरकार और संघीय सरकार के बीच तनाव इसलिए है क्योंकि दोनों की इस मुद्दे पर अलग-अलग राय है.

विक्टोरिया प्रांत चाहता है कि दुनिया के नंबर वन खिलाड़ी नोवाक जोकोविच इस अहम टूर्नामेंट में हिस्सा लें.

नोवाक जोकोविच

वहीं संघीय सरकार जोकोविच के देश में दाख़िल होने पर लोगों के आक्रोश का सामना कर रही है और ये संकेत देना चाहती है कि वही यह तय करेगी कि कौन देश में आएगा और कौन नहीं.

संघीय सरकार ये भी संकेत देना चाहती है कि टेनिस स्टार समेत हर किसी को कोविड नियमों का पालन करना ही होगा.

ऑस्ट्रेलिया में इस साल चुनाव भी होने हैं. प्रधानमंत्री मॉरिसन पर कोरोना महामारी को लेकर सरकार की कार्रवाई की वजह से भारी दबाव का सामना करना पड़ रहा है.

ऑस्ट्रेलिया में संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं और टेस्ट क्लिनिकों पर भीड़ है.

विश्लेषक मानते हैं कि मॉरिसन ने इस मौके का इस्तेमाल ये दिखाने के लिए भी किया है कि वो देश की सीमाओं से जुड़े मुद्दों पर सख़्त हैं.

लेकिन कोविड नियमों और वीज़ा ज़रूरतों पर सख़्त रुख़ दिखाकर मॉरिसन और उनकी सरकार ने स्थिति को और जटिल कर दिया है.

हर बयान जो दिया जा रहा है, हर जानकारी जो सामने आ रही है उससे और अधिक अनिश्चितता ज़ाहिर हो रही है.

Related posts

पटाखों के बैन पर सुप्रीम कोर्ट बोला

News Blast

ED books Jet Airways’ Naresh Goyal, his wife in alleged money laundering case

Admin

पूर्व इंग्लिश कप्तान ने कहा- कोहली के 3 टेस्ट नहीं खेलने से ऑस्ट्रेलिया के लिए जीत आसान होगी

News Blast

टिप्पणी दें