July 25, 2024 : 8:49 PM
Breaking News
MP UP ,CG खबरें खेल टेक एंड ऑटो ताज़ा खबर बिज़नेस ब्लॉग मनोरंजन महाराष्ट्र राज्य राष्ट्रीय लाइफस्टाइल हेल्थ

UP Election 2022: राकेश टिकैत ने बताया आखिर CM योगी का गोरखपुर से जीतना क्यों जरूरी

प्रयागराज. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की राजनीति में इस समय हर जगह चुनावी माहौल है. प्रतिदिन नए सियासी समीकरण सामने आ रहे हैं. इसी बीच प्रयागराज माघ मेले में तीन दिवसीय किसानों के चिंतन शिविर में शिरकत करने पहुंचे भारतीय किसान यूनियन (BKU) के प्रवक्ता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने बड़ा बयान दिया है. राकेश टिकैत ने एक बार फिर से दोहराया है कि यूपी में मजबूत विपक्ष के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ का गोरखपुर सीट से जीतना जरूरी है. राकेश टिकैत ने कहा कि दो चीजें एक साथ होने जा रही हैं. योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) गोरखपुर से चुनाव जीतेंगे और उनके चुनाव जीतने पर मार्च महीने से विपक्ष मजबूत होगा. उन्होंने कहा है कि किसान समझदार है और वह इशारों को समझते हैं. राकेश टिकैत ने कहा है कि किसान यूनियन 22 जनवरी से 3 दिनों तक लखीमपुर खीरी में फिर डेरा जमाएगी.उन्होंने सपा- आरएलडी गठबंधन को समर्थन देने की खबरों का खंडन किया है. राकेश टिकैत ने कहा, किसान यूनियन किसी भी सियासी पार्टी या गठबंधन को अपना समर्थन नहीं देगी. उन्होंने कहा है कि सपा- आरएलडी गठबंधन को भी समर्थन देने का कोई ऐलान नहीं किया गया है. टिकैत ने सफाई पेश करते हुए कहा है कि एक प्रत्याशी आशीर्वाद मांगने आया था. उसे सिर्फ आशीर्वाद दिया गया था. टिकैत ने कहा है कि कोई भी आशीर्वाद मांगने आएगा तो उसे वापस नहीं भेजा जा सकता है. राकेश टिकैत ने कहा कि हमारे करीबी धर्मेंद्र मलिक के चुनाव लड़ने की बात भी गलत है. उन्होंने कहा है कि मलिक या यूनियन से जुड़ा कोई बड़ा चेहरा विधानसभा का चुनाव नहीं लड़ेगा.उन्होंने कहा है कि जेल भेजे गए और हिंसा में मारे गए किसानों के परिवार वालों से मुलाकात करेंगे. किसानों के परिवार वालों से मुलाकात के बाद ही आगे के आंदोलन की रणनीति तय करेंगे. जेल जाकर वहां बंद किसानों से मुलाकात की भी कोशिश रहेगी. अफसरों से बातचीत कर किसानों के केस के बारे में भी जानकारी लेंगे. माघ मेले में तीन दिन तक चिंतन शिविर के बाद किसानों की समस्याओं को लेकर 31 जनवरी को पूरे देश में प्रदर्शन करेंगे. गौरतलब है कि 31 जनवरी से ही संसद का सत्र भी शुरू होने जा रहा है. भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा है कि फिलहाल किसान यूनियन न ही किसी दल को समर्थन कर रहा है, न ही यूनियन का कोई सदस्य चुनाव लड़ने जा रहा है.

Related posts

लोगों के घरों में भगवान के रूप में पूजे जा रहे सोनू सूद को इलेक्शन कमीशन ने बनाया पंजाब का स्टेट आइकन

News Blast

CSK के कुल खिलाड़ियों की कीमत सबसे ज्यादा 85 करोड़ रुपए, खिलाड़ियों की एवरेज प्राइस के मामले में RCB 3.60 करोड़ रुपए के साथ टॉप पर

News Blast

जानकारी देना पड़ा भारी:टाटा मोटर्स का शेयर पिछले 4 दिनों में 10% से ज्यादा लुढ़का, चिप शॉर्टज के चलते दो तिमाहियों से घट रही बिक्री

News Blast

टिप्पणी दें