July 25, 2024 : 9:10 PM
Breaking News
MP UP ,CG

अखिलेश ने कहा- बिहार में जनता का विरोधी रुख समझ चुकी भाजपा; मोहसिन रजा का तंज, बोले- कभी मुलायम सिंह ने कंप्यूटर का विरोध किया था

  • सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अमित शाह की वर्चुअल रैली पर साधा निशाना
  • बोले- 150 करोड़ खर्चकर भाजपा तोड़ना चाहती है विपक्ष का मनोबल

दैनिक भास्कर

Jun 08, 2020, 03:29 PM IST

उन्नाव. देश के गृहमंत्री व पूर्व भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने रविवार को बिहार चुनाव का बिगुल नए अंदाज में फूंका। उन्होंने दिल्ली में रहकर टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर वर्चुअल रैली का आगाज किया। लेकिन अब इस पर सियायत शुरू हो गई है। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा- झारखंड में बुरी तरह चुनाव हार चुकी भाजपा अब बिहार में 150 करोड़ रुपए खर्च कर वर्चुअल रैली के जरिए धन-बल का प्रयोग कर रही है। भाजपा ऐसा करके विपक्ष का मनोबल तोड़ना चाहती है। क्योंकि वह जनता कास विरोधी रुख समझ रही है। 

पिता ने कंप्यूटर का विरोध किया, अब अखिलेश वर्चुअल रैली का
हालांकि, अखिलेश यादव के बयान पर प्रदेश सरकार के अल्पसंख्यक कल्याण राज्यमंत्री मोहसिन रजा ने पलटवार किया है। राज्यमंत्री रजा ने कहा- मुलायम सिंह यादव ने कभी कंप्यूटर का विरोध किया था। आज बेटा आईटी के जमाने में वर्चुअल रैली का विरोध कर रहा है। सात करोड़ की बस लेकर चलने वाले वर्चुअल रैली को क्या समझेंगे? राहुल गांधी के साथ का असर है। बहुत कंफ्यूज हो गए हैं। अखिलेश अपने घर की महिलाओं से पिछड़ चुके हैं। 

राहुलजी के साथ का असर, इसलिए कंफ्यूज हैं
मोहसिन रजा ने कहा- कुछ साल पहले अखिलेश बच्चों को लैपटॉप बांट रहे थे। लेकिन इसके पीछे उनकी मंशा अपनी पार्टी के प्रचार की थी। वर्चुअल की नहीं थी। वे नहीं चाहते थे कि, बच्चे इस टेक्नोलॉजी से पढ़ें। जब देश में कंप्यूटर आ रहा था तब मुलायम सिंह ने विरोध किया था। कहा था कि, कंप्यूटर से देश बर्बाद हो जाएगा। अब आपने डिजिटल का विरोध किया। लेकिन यह नहीं भूलना चाहिए कि, इससे धन व समय दोनों का दुरुपयोग बच रहा है। लेकिन आप नहीं समझेंगे। सात करोड़ की बस बनवाकर उससे प्रचार करने निकले थे। लेकिन वह 50 मीटर भी नहीं चली। जनता के सात करोड़ रुपए को बर्बाद किया। भाजपा हर चीज का सही इस्तेमाल करना जानती है। हमनें संकटकाल में लोगों को सुरक्षा देने के लिए उन तक अपनी बात पहुंचाने के लिए वर्चुअल रैली कर रहे हैं। लेकिन असल में ये आपकी खता नहीं है। ये राहुल गांधी जी के साथ का असर है। इसलिए कंफ्यूजन हो गए हैं। कंफ्यूजन को दूर करिए नहीं तो आप घर की महिलाएं बहुत तेज हो गई हैं। उनसे ही कुछ सीख ले लीजिए। 

Related posts

केजीएमयू के कुलपति, उनके ड्राइवर और एक स्टॉफ की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव

News Blast

किस्त भरने के लिए पत्नी से रुपए मांगे, नहीं देने पर पत्नी की नाक फोड़कर खुद पर ब्लेड से हमला कर लिया

News Blast

काशी के चार छात्रों ने क्वारैंटाइन कोविड वॉच बनाया; घर से बाहर निकला मरीज या घड़ी उतारी तो तुरंत बजेगा अलार्म

News Blast

टिप्पणी दें