June 18, 2024 : 1:32 AM
टेक एंड ऑटो

एपल ने आईफोन की ऑनलाइन खरीदरी पर पाबंदी लगाई, एक मॉडल के दो से ज्यादा आईफोन नहीं खरीद सकेंगे ग्राहक

दैनिक भास्कर

Mar 20, 2020, 12:39 PM IST

नई दिल्ली. कोरोनावायरस के बढ़ते प्रभाव का असर आईफोन के उत्पादन और बिक्री पर भी देखने को मिल रहा है। कोरोना के कारण एपल पहले ही अपने कई स्टोर्स और मैनुफैक्चरिंग यूनिट्स बंद चुकी है। अब कंपनी ने आईफोन की ऑनलाइन खरीदारी पर पाबंदी लगा दी है। इसके तहत अब ग्राहक एक मॉडल के दो से ज्यादा आईफोन की ऑनलाइन खरीदारी नहीं कर सकेंगे। हालांकि, अलग-अलग मॉडल के दो से ज्यादा आईफोन खरीदें जा सकेंगे। फिलहाल यह लिमिट अमेरिका और चीन समेत कई देशों के लिए लागू की गई है। नई लिमिट शुक्रवार से लागू हो गई है।

2007 में पहली बार लगाई गई थी खरीदारी लिमिट
2007 में आईफोन के बाजार में पेश होने के बाद एपल मे पहली बार खरीदारी लिमिट लगाई थी। एपल ने यह कदम आईफोन की रिसेलिंग रोकने के मकसद से उठाया था। कई देशों में एपल की वेबसाइट पर ड्रॉप-डाउन मेन्यू के जरिए ग्राहकों को एक ही मॉडल के दो से ज्यादा आईफोन खरीदने से रोका जा रहा है। यह खरीदारी लिमिट आईफोन के सभी मॉडल्स पर लागू किया गया है। मुख्य रूप से चीन, हॉन्ग-कॉन्ग, ताइवान और सिंगापुर में आईफोन लिस्टिंग के जरिए ग्राहकों को संदेश दिया जा रहा है कि वे प्रत्येक ऑर्डर दो से ज्यादा आईफोन डिवाइस नहीं खरीद सकते हैं। हालांकि, कंपनी ने अभी तक इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। कोरोनावायरस के कारण सेल्स, सप्लाई चेन में बाधा और कमजोर मांग को देखते हुए यह खरीदारी लिमिट लगाई गई है।

एपल ने चीन में बंद कर दिए थे सभी स्टोर
चीन में कोरोनावायरस के तेजी से फैलने के बाद एपल ने अपने सभी फिजिकल स्टोर बंद कर दिए थे। 13 मार्च को ही इन स्टोर्स को दोबारा से खोला गया है। फॉक्सकॉन चीन में एपल का सबसे महत्वपूर्ण उत्पादक सहयोगी है। कोरोना के कारण इसका उत्पादन भी प्रभावित हुआ है। हालांकि फॉक्सकॉन के संस्थापक टैरी गाउ का कहना है कि अब उत्पादन पूरी तरह से सामान्य हो गया है।

सीईओ टिम कुक ने जताई है नुकसान की आशंका
एपल के सीईओ टिम कुक ने फरवरी में निवेशकों को पत्र लिखकर चेताया था कि कोरोना के कारण कंपनी कैलेंडर वर्ष 2020 में अपने राजस्व लक्ष्यों से पीछे रह सकती है। चीन में अब उत्पादन पूरी तरह से शुरू हो गया है लेकिन अन्य देशों में स्टोर बंद होने के कारण कंपनी को मांग में कमी का सामना करना पड़ रहा है।

अमेरिका में 1.5 लाख कर्मचारियों की भर्ती करेगी वॉलमार्ट
अमेरिका में कोरोनावायरस के कारण ग्राहकों की स्टोर्स में बढ़ती संख्या को देखते हुए रिटेल कंपनी वॉलमार्ट ने 1.5 लाख कर्मचारियों की भर्ती की योजना बनाई है। इससे पहले वॉलमार्ट की प्रमुख प्रतिद्वंदी कंपनी अमेजन डॉट कॉम ने 1 लाख वेयरहाउस और डिलीवरी वर्कर्स को नौकरी पर रखने का ऐलान किया था। अमेरिका में कोरोनावायरस के कारण बढ़े ऑनलाइन ऑर्डर्स को देखते हुए अमेजन ने यह फैसला किया था।

179 देशों में संक्रमण और 10,035 मौतें
कोरोनावायरस ने शुक्रवार सुबह तक 179 देशों को चपेट में ले लिया। अब तक 10,035 लोगों की मौत हो चुकी है। 2 लाख 44 हजार 979 मामलों की पुष्टि हो चुकी है। राहत की खबर है कि इस दौरान 87 हजार 408 मरीज स्वस्थ भी हुए। कोरोना संक्रमण जिस चीन से शुरू हुआ, वहां अब हालात काबू होने लगे हैं, लेकिन यूरोपीय देश इटली में स्थितियां भयावह हैं। शुक्रवार सुबह तक चीन में मौतों का आंकड़ा 3,245 था, जबकि, इटली में इसी दौरान 3,405 संक्रमितों ने दम तोड़ा। उधर, ईरान सरकार की तरफ आए बयान ने दुनिया की चिंता बढ़ा दी। ईरान के स्वास्थ्य विभाग ने कहा- देश में हर 10 मिनट में एक संक्रमित की मौत हो रही है और हर 50 मिनट में नया मामला सामने आ रहा है। पाकिस्तान में गुरुवार तक 453 संक्रमित पाए गए। दो की मौत हो चुकी है। अमेरिका अब सेना को मैदान में उतारने जा रहा है।

Related posts

अब टिकटॉक को अपने ही देश में झेलना पड़ रहा विरोध; कंपनी के खिलाफ हुए चीनी, टिकटॉक के CEO को बताया ‘गद्दार’

News Blast

भारतीय बाजार में मिलने वाले 5 स्मार्टफोन्स के बारे में जानें जिनमें है हार्ट रेट सेंसर

News Blast

बजट सेगमेंट में Nokia C3 स्मार्टफोन हुआ लॉन्च, Realme C11 से होगा मुकाबला

News Blast

टिप्पणी दें