May 29, 2024 : 2:10 PM
Breaking News
लाइफस्टाइल

कोरोनावायरस से कुत्ते की मौत का पहला मामला सामने आया, 2 दिन आइसोलेशन में रखा गया था

  • हॉन्ग कॉन्ग प्रशासन ने कहा- कुत्ते में लक्षण नहीं दिखे, लेकिन डॉक्टर ने बताया मिलते-जुलते लक्षण देखे गए
  • मौत के बाद विभाग ने जांच कराने की बात कही, लेकिन कुत्ते की मालकिन का पोस्टमॉर्टम से इनकार कर दिया

दैनिक भास्कर

Mar 18, 2020, 06:08 PM IST

हेल्थ डेस्क. हॉन्गकॉन्ग में कोरोनावायरस से कुत्ते की मौत का दुनिया का पहला मामला सामने आया है। 17 साल का पोमरैनियन ब्रीड का कुत्ता एक 60 साल महिला का है। दो दिन पहले कोरोना से संक्रमण का शक होने पर उसकी जांच और हॉस्पिटल में ही आइसोलेशन में रखा गया। बुधवार को हॉस्पिटल से छुट्‌टी दी गई लेकिन घर लाते ही उसकी मौत हो गई।

मालकिन ने पोस्टमॉर्टम कराने से मना किया

वेटेनेरियन डॉ. एशियन फॉनिशियल हब के मुताबिक, कुत्ते की मरने की वजह क्वारैंटाइन में तनाव, घबराहट और परिवार से दूरी हो सकती है। कुत्ते की मालकिन उसका पोस्टमार्टम करने से इनकार कर दिया है। प्रशासन का कहना है कि उसमें लक्षण नहीं देखे गए। लेकिन एक डॉक्टर का कहना है कि उसके नाक और मुंह के नमूनों में कोरोनावायरस से मिलते-जुलते लक्षण दिखे हैं। विभाग ने कहा कि इसकी गहन जांच होगी और पता लगाया जाएगा कि उसमें वायरस था या नहीं। 

कुत्ते से इंसान में वायरस फैलने के प्रमाण नहीं: डब्ल्यूएचओ

इस मामले पर विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) का कहना है कि अब तक पालतू जानवरों से कोरोना के संक्रमण फैलने के प्रमाण नहीं मिला है। हॉन्गकॉन्ग में कुत्ते के संक्रमित होने के मामले में डब्ल्यूएचओ ने कहा कि COVID-19 संक्रमित व्यक्ति के कफ, छींक, या सम्पर्क से फैल सकता है, लेकिन कुत्ते-बिल्ली या किसी दूसरे जानवर से इसके संक्रमण को लेकर अभी तक कोई प्रमाण नहीं है।

Related posts

अब फूंक मारकर एक मिनट में कोरोना का पता लगाया जा सकता है, दावा; 90% तक सटीक रिजल्ट देता है

News Blast

हमारे मन में जब तक इच्छाएं रहेंगी, हमारा मन भगवान की भक्ति में नहीं लग सकता

News Blast

मंगलवार को परिवार में तालमेल बिगड़ सकता है, काम करते समय धैर्य जरूर रखें

News Blast

टिप्पणी दें