May 31, 2024 : 3:17 AM
Breaking News
लाइफस्टाइल

दो डॉक्टर ऐसे भी जिन्होंने कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज में अपनी जान तक दे दी

  • डॉ. राबर्टो स्टेला मिलान से 20 मील उत्तर पश्चिम में बस्टो नामक कस्बे में स्टेला जनरल फिजिशियन थे और जानते थे कोरोना के लक्षण सामान्य फ्लू के नहीं
  • 29 साल के डॉक्टर पेंग यिन हुआ झियांगशिया अस्पताल में तेजी से भर्ती हो रहे कोरोना संक्रमित मरीजों को बचाने में जुटे हुए थे

दैनिक भास्कर

Apr 07, 2020, 10:29 AM IST

चीन के डॉ पेंग यिन हुआ की शादी होने वाली थी, लेकिन उन्होंने टाल दी। वहीं इटली के डॉ. राबर्टो स्टेला इटली के उन चुनिंदा डॉक्टरों में से एक थे, जिनके पास कोरोना संक्रमण के सबसे पहले मामले पहुंचे। आज दोनों मिसाल बन चुके हैं..

सुरक्षा के इंतजाम नहीं थे, जोखिम बहुत था फिर भी इलाज में लगे रहे

डॉ. राबर्टो स्टेला मिलान से 20 मील उत्तर पश्चिम में बस्टो नामक कस्बे में स्टेला जनरल फिजिशियन थे। वे उत्तरी इटली में मेडिकल एसोसिएशन के हेड भी थे। फरवरी में जब दुनिया में कोई नहीं जानता था कि कोरोना वायरस इटली को अपनी चपेट में ले लेगा, तब 67 साल के डॉक्टर स्टेला के पास सर्दी, जुकाम, बुखार और सांस लेने में तकलीफ के कई मरीज पहुंचने लगे थे। स्टेला जानते थे कि यह सामान्य फ्लू नहीं है। वो पूरी एहतियात से पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विप्मेंट (पीपीई) से लैस होकर मरीजों का इलाज करने में जुट गए। एक समय ऐसा भी आया कि पीपीई की इतनी कमी हो गई कि स्टेला के पास एक भी नहीं बचा। वो जानते थे बिना सुरक्षा के इलाज करना उनके लिए घातक होगा। फिर भी वो इलाज करते रहे और 10 मार्च को उनकी मौत हो गई।

खुद की शादी टाल मरीजों के इलाज में लगे रहे, यही जानलेवा बन गया 

फरवरी का महीना था। चीन के वुहान में कोरोना वायरस बड़ी तेजी से फैल रहा था, लेकिन दुनिया इस महामारी से बेखबर थी। वुहान में 29 साल के डॉक्टर पेंग यिन हुआ कई दिनों से झियांगशिया अस्पताल में तेजी से भर्ती हो रहे कोरोना संक्रमित मरीजों को बचाने में जुटे हुए थे। उन्हे पता था ये बीमारी जानलेवा साबित हो सकती है। ये भी पता था कि कुछ ही दिनों में उसकी शादी होने वाली है। शादी के कार्ड तो छप चुके थे लेकिन उसे बांटने का समय नहीं था। अंत में शादी को टाल दिया ताकि वह मरीजों की सेवा कर सके। 20 फरवरी को कोरोना संक्रमण से पेंग की मौत हो गई थी। वह चीन में कोरोना से मरने वाले सबसे कम उम्र के डॉक्टर थे। शादी के कार्ड अब भी उनके ऑफिस के टेबल के दराज में पड़े हैं। लेकिन अब वहीं रहेंगे।

Related posts

मुफ़्त राशन सितंबर तक मिलेगा , केंद्र सरकार ने लिया फ़ैसला

News Blast

बादल-बारिश का दौर खत्म, तेज गर्मी से बढ़ेगी परेशानी, मौसम विभाग ने चेताया

News Blast

25 नवंबर से किए जा सकेंगे विवाह, गृह प्रवेश और अन्य मांगलिक काम

News Blast

टिप्पणी दें