July 24, 2024 : 5:25 PM
Breaking News
खेल

चीफ सिलेक्टर जोशी का बोर्ड को सुझाव- टी-20 टूर्नामेंट से हो घरेलू सीजन की शुरुआत, ताकि वर्ल्ड कप के लिए खिलाड़ी तैयार हो सकें

  • सिलेक्शन कमेटी के मुताबिक, घेरलू सीजन की शुरुआत मुश्ताक अली टूर्नामेंट से होने से खिलाड़ियों को आईपीएल की तैयारी का मौका मिलेगा
  • इससे टीम इंडिया के खिलाडि़यों को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी से पहले प्रैक्टिस का मौका मिलेगा, विराट और रोहित जैसे खिलाड़ी इसमें शामिल हो सकते हैं
  • पिछले साल अगस्त में 2019-20 सीजन की शुरुआत दिलीप ट्रॉफी से हुई थी, जबकि नवंबर में घरेलू टी-20 टूर्नामेंट हुआ था

दैनिक भास्कर

May 09, 2020, 08:54 AM IST

भारतीय क्रिकेट टीम के चीफ सिलेक्टर सुनील जोशी ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को नए सीजन की शुरुआत टी-20 से करने का सुझाव दिया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बीते दिनों नेशनल सिलेक्शन कमेटी कीबैठक हुई थी। इसमें जोशी ने यह प्रस्ताव दिया था। अगर बोर्ड इस पर सहमत होता है तो आमतौर पर अगस्त में शुरू होने वाले नए सीजन का आगाज सैयद मुश्ताक अली टी-20 टूर्नामेंट से हो सकता है। 

टी-20 वर्ल्ड कप की तैयारियों में मदद मिलेगी

सिलेक्शन कमेटी के मुताबिक, इससे खिलाड़ी टी-20 वर्ल्ड कप के लिए तैयार हो सकेंगे। इस साल ऑस्ट्रेलिया में अक्टूबर-नवंबर में यह टूर्नामेंट खेला जाना है। वहीं, खिलाड़ियों को इंडियन प्रीमियर लीग की तैयारी का भी मौका मिल जाएगा। हालांकि, अभी आईपीएल का शेड्यूल तय नहीं हुआ है। लेकिन मौजूदा हालात, फ्यूचर टूर प्रोग्राम को देखते हुए लीग के सितंबर-अक्टूबर में होने की उम्मीद है। 

रोहित, कोहली जैसे खिलाड़ियों को प्रैक्टिस का मौका मिलेगा

ज्यादातर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर घरेलू क्रिकेट में हिस्सा लेने को प्राथमिकता नहीं देते हैं। लेकिन मौजूदा हालात में उन्हें इसके जरिए प्रैक्टिस का मौका मिलेगा। ऐसे में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी से पहले विराट कोहली, रोहित शर्मा जैसे कई बड़े खिलाड़ी अपनी घरेलू टीमों की तरफ से उतर सकते हैं। अगर ऐसा होता है तो विराट 2013 के बाद पहली बार दिल्ली की तरफ से खेलते नजर आ सकते हैं।

धोनी भी घरेलू लीग से टी-20 में वापसी कर सकते हैं

कोहली पिछली बार 2013 में एनकेपी चैलेंजर ट्रॉफी में दिल्ली की तरफ से खेले थे। वहीं, 9 महीने से क्रिकेट से दूर महेंद्र सिंह धोनी भी आईपीएल से पहले टी-20 क्रिकेट खेल सकते हैं। 

खाली स्टेडियम में मुश्ताक अली टूर्नामेंट कराया जा सकता है

अगर बीसीसीआई सिलेक्शन कमेटी के सुझाव मान लेती है तो उसे घरेलू टी-20 लीग के आयोजन में परेशानी नहीं होगी। क्योंकि लीग के सभी मैच लाइव नहीं दिखाए जाते। ऐसे में खाली स्टेडियम में इस टूर्नामेंट को कराने में बोर्ड को कोई परेशानी भी नहीं होगी।हालांकि, घरेलू टी-20 लीग को लेकर आए सुझाव और आईपीएल के भविष्य पर बोर्ड 17
मई के बाद ही कोई फैसला लेगा। इसी दिन लॉकडाउन-3 की मियाद खत्म हो रही है। 

पिछले साल नवंबर में हुआ था घरेलू टी-20 टूर्नामेंट

बता दें कि पिछले साल अगस्त में 2019-20 सीजन की शुरुआत दिलीप ट्रॉफी से हुई थी। सितंबर-अक्टूबर में विजय हजारे और नवंबर में देवधर ट्रॉफी खेली गई। इसके बाद सैयद मुश्ताक अली टी-20 टूर्नामेंट हुआ। इसी साल मार्च में रणजी ट्रॉफी का फाइनल हुआ। हालांकि, कोरोना की वजह से ईरानी कप नहीं खेला जा सका। इसमें रणजी ट्रॉफी चैम्पियन सौराष्ट्र और रेस्ट ऑफ इंडिया के बीच मुकाबला होना था। 

Related posts

गेल और सैमी के साथ आईसीसी, नस्लवाद के खिलाफ कहा- बगैर भिन्नता के क्रिकेट कुछ भी नहीं

News Blast

टॉस विवाद पर संगकारा ने कहा- मैं जीता था, लेकिन धोनी मेरी आवाज नहीं सुन पाए, इसलिए दोबारा सिक्का उछाला गया

News Blast

Bhopal News : बिजली चोरी रोकने के लिए कंपनी ने तैनात किए 45 चौकीदार, रात में करते हैं गश्त

News Blast

टिप्पणी दें