April 19, 2024 : 1:25 PM
Breaking News
खेल

गंभीर ने कहा- हम सभी को कोरोना के साथ ही रहना है, जितनी जल्दी इसकी आदत डाल लें, उतना अच्छा

  • पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर ने कहा- क्रिकेट में लार के इस्तेमाल के अलावा किसी नियम में बदलाव नहीं होगा
  • गंभीर ने कहा- क्रिकेट में सोशल डिस्टेंसी लागू हो सकती है, लेकिन फुटबॉल-हॉकी समेत अन्य खेलों में संभव नहीं

दैनिक भास्कर

May 10, 2020, 04:10 PM IST

पूर्व भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर ने कहा कि हम सभी को अब कोरोनावायरसस के साथ ही रहना होगा। जितनी जल्दी इसकी आदत डाल लें, उतना अच्छा है। गंभीर ने स्टार स्पोर्ट्स के शो क्रिकेट कनेक्टेड में कहा कि महामारी ने पूरे क्रिकेट कैलेंडर पर ब्रेक लगा दिया है। इसके कारण लगभग सभी अंतरराष्ट्रीय सीरीज और इवेंट स्थगित कर दिए गए हैं।

कोरोना महामारी के कारण इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) को अनिश्चितकाल के लिए टाल दिया गया है। जून-जुलाई तक के लगभग सभी टूर्नामेंट और सीरीज टाल दी गईं। इनके अलावा सितंबर में एशिया कप और अक्टूबर-नवंबर में ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप पर भी खतरा मंडराने लगा है।

क्रिकेट में ज्यादा बदलाव नहीं होंगे
गंभीर ने कोरोना के बाद क्रिकेट में लार के इस्तेमाल के अलावा अन्य नियमों के बदलाव को नकारा है। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि कोरोना के बाद क्रिकेट में ज्यादा बदलाव देखने को मिलेंगे। हो सकता है कि आपके पास स्लाइवा (लार) का कोई दूसरा विकल्प हो। इसके अलावा मुझे नहीं लगता कि ज्यादा कुछ बदलेगा।’’ गंभीर ने 58 टेस्ट में 4154, 147 वनडे में 5238 और 37 टी-20 में 932 रन बनाए हैं। आईपीएल में गंभीर के नाम 154 मैच में 4218 रन हैं।

‘जितनी जल्दी स्वीकार करेंगे, उतना अच्छा’
भाजपा के सांसद गंभीर ने कहा, ‘‘खिलाड़ियों समेत अन्य लोगों को भी इस वायरल के साथ रहना होगा। इन लोगों को शायद इसका आदी होना पड़ेगा। हो सकता है खिलाड़ियों को यह अपनी गिरफ्त में ले सकता है, लेकिन आपको इसी के साथ रहना पड़ सकता है। जितनी जल्दी आप इसे मानेंगे उतना अच्छा होगा।’’

Related posts

बालाघाट जिले में लगातार 16 घंटे की बारिश से बावनथड़ी नदी उफान पर, राजीव सागर बांध का बढ़ा जलस्तर

News Blast

कोहली के पास वॉर्नर से 2016 फाइनल की हार का बदला लेने का मौका; सनराइजर्स 2 बार चैम्पियन, पर बेंगलुरु का खाता नहीं खुला

News Blast

आकाश चोपड़ा ने कहा- दिग्गज खिलाड़ी के रिश्तेदार होने से मौका नहीं मिलता, ऐसा होता तो गावस्कर-तेंदुलकर के बेटे टीम इंडिया में खेल रहे होते

News Blast

टिप्पणी दें