June 15, 2024 : 5:13 PM
खेल

जापान में 28 साल के सूमो पहलवान शोबुशी की जान गई, बांग्लादेश क्रिकेट टीम के डेवलपमेंट कोच का टेस्ट पॉजिटिव

  • 28 साल के सूमो पहलवान शोबुशी ने 2007 में डेब्यू किया था, जापान में 4 पहलवान और पॉजिटिव पाए गए
  • कोच अशिकुर रहमान 2002 अंडर-19 वर्ल्ड कप खेल चुके, लेकिन बांग्लादेश टीम में जगह नहीं बना सके

दैनिक भास्कर

May 13, 2020, 05:04 PM IST

कोरोनावायरस के कारण जापान में 28 साल के सूमो पहलवान शोबुशी की बुधवार सुबह मौत हो गई। उनका पहला टेस्ट 10 अप्रैल को पॉजिटिव आया था। वे महामारी से पीड़ित होने वाले जापान के पहले सूमो पहलवान थे। जापान में 25 अप्रैल को लोवर डिवीजन के 4 पहलवान कोरोनावायरस से संक्रमित पाए गए थे। वहीं, बांग्लादेश के डेवलपमेंट कोच अशिकुर रहमान का कोरोना टेस्ट भी पॉजिटिव निकला है।

शोबुशी ने पहलवान के तौर पर 2007 में डेब्यू किया था। वे जेएसए के चौथे डिवीजन में 11वें नंबर पहुंचे थे। कोरोना के कारण सूमो समिति ने ओसाका में 25 अप्रैल को बगैर दर्शकों के ही रेसलिंग टूर्नामेंट कराया था। कोरोना से रेसलरों के संक्रमित होने के कारण टोक्यो में 24 मई से 27 जून तक होने वाले एक समर टूर्नामेंट को भी रद्द कर दिया गया।

महिला टीम के कोच रह चुके अशिकुर
वहीं, बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (बीसीबी) के प्रमुख मोहम्मद जलाल यूनुस ने अशिकुर के संक्रमित होने की जानकारी दी। डेवलपमेंट कोच अशिकुर ने 2002 में अंडर-19 वर्ल्ड कप खेला था। हालांकि, वे बांग्लादेश टीम में अपनी जगह नहीं बना पाए थे। उन्होंने 6 साल के क्रिकेट करियर में 15 फर्स्ट क्लास में 36 और लिस्ट-ए (सीमित ओवर के मैच) के 18 मुकाबलों में 21 सफलताएं हासिल कीं थी। उन्होंने अपने कोचिंग करियर में बांग्लादेश की महिला टीम के साथ भी काम किया था।

खेल जगत के यह 9 दिग्गज दुनिया को अलविदा कह चुके
खेल जगत में कोरोना के कारण सूमो शोबुशी की 9वीं मौत है। उनके अलावा पाकिस्तान के स्क्वैश लेजेंड आजम खान (95), इंग्लैंड के पूर्व फुटबॉलर नॉर्मन हंटर (76), पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर जफर सरफराज (50), धावक दोनातो साबिया (56), स्विट्जरलैंड के आइस हॉकी लेजेंड रोजर शैपो (79), फ्रांस के फुटबॉल क्लब रीम्स के डॉक्टर बर्नार्ड गोंजालेज (60), इंग्लैंड के लंकाशायर क्रिकेट क्लब के अध्यक्ष डेविड हॉजकिस (71) और फ्रांस के ओलिंपिक डी मार्शल फुटबॉल क्लब के पूर्व अध्यक्ष पेप दिऑफ (68) दुनिया को अलविदा कह चुके हैं।

Related posts

उम्र के साथ मजबूत हुए क्रिस्टियानो, शुरुआती 118 मैच में 52 तो बाद के 50 मुकाबलों में 50 गोल दागे

News Blast

1975 से 1990 के बीच 10 टाइटल, यह वो वक्त था जब रेड्स को रोकना नामूमकिन सा था; लीग के 132 साल के इतिहास में 8 अलग-अलग दशकों में जीतने वाला यह पहला क्लब है

News Blast

ऋषभ पंत तीनों फॉर्मेट के बेहतरीन खिलाड़ी: कोच तारक सिन्हा बोले- टीम में जगह पक्की नहीं थी, इसलिए ध्यान भटक रहा था, अब पूरे कॉन्फिडेंस से खेलते हैं

Admin

टिप्पणी दें