June 4, 2023 : 6:11 AM
Breaking News
लाइफस्टाइल

सवाल : क्या संक्रमित व्यक्ति से सामान लेने से संक्रमण का खतरा है? एक्सपर्ट का जवाब : हां, किसी से कुछ भी लें तो उसे धोएं और सैनेटाइज करें

  • हाथ पर एक बार में लाखों वायरस बैठ सकते हैं ऐसे में जरा सी चूक से वायरस मुंह में पहुंच सकता है, बार-बार हाथ धोते रहें
  • हाथ धोने की आदत कोरोना महामारी ख्त्म होने के बाद भी बरकरार रखें ताकि दूसरी बीमारियों से भी बच सकें

दैनिक भास्कर

Apr 26, 2020, 11:49 PM IST

नई दिल्ली. क्या सिर्फ पानी से हाथ धोने पर कोरोना से बचा जा सकता है, विटामिन-सी कोरोनावायरस से कितना बचाव करता है, संक्रमित इंसान से लिए गए सामान से कोरोना का खतरा कितना है…ऐसे कई सवालों के जवाब ऑल इंडिया रेडियो ने जारी किए है। एम्स दिल्ली के विशेषज्ञ डॉ. प्रसून चटर्जी से जानिए ऐसे ही सवालों के जवाब…

#1) क्या संक्रमित व्यक्ति से सामान लेने से संक्रमण का खतरा है?
जी, बिल्कुल, अगर किसी संक्रमित इंसान से कुछ लिया है तो उससे संक्रमण का खतरा रहता है। इसलिए अगर बिना जाने ऐसे किसी इंसान से सामान जैसे सब्जी, फल आदि ले तों सामान को पानी से धो लें या सैनेटाइज करें। सब्जी या खाने-पीने की चीज को अच्छी तरह पकाकर खाएं। क्योंकि अगर वो संक्रमित है तो छींक के ड्रॉपलेट्स सामान पर पड़े होंगे। ऐसा नहीं भी हुआ होगा तो हाथों के जरिये सामान पर वायरस पहुंचा होगा। इसलिए सावधानी आपको बरतनी है। सामान के साथ अपने हाथ भी धोएं।

#2) क्या विटामिन-सी लेने से कोरोना के संक्रमण से बच सकते हैं?
विटामिन-सी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए बहुत अच्छा है। लेकिन ध्यान रखें आप चाहें व्यायाम करें, तुलसी लें या विटामिन-सी, रोग प्रतिरोधक क्षमता तुरंत नहीं बढ़ती। इसलिए इस रोग से बचने के लिए खान-पान का ध्यान रखने के साथ सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।

#3) क्या फूल-माला से भी कोरोनावायरस का खतरा है?
जी हां, अगर कोई फूलमाला लेकर आ रहा है और किसी के ड्रापलेट्स उस पर पड़े हैं तो संक्रमण हो सकता है। इसलिए काफी सावधानी बरतें। इस समय जो भी सामान बाहर से मंगा रहे हैं उसे पहले पानी से धो लें या सैनेटाइज कर लें।

#4) क्या खाली पानी से हाथ धोने से वायरस नष्ट हो जाएगा?
नहीं, बिना साबुन के वायरस नष्ट नहीं होता। सैनेटाइजर का प्रयोग करें या साबुन-पानी से हाथ धोएं। ऐसा 20 सेकंड तक करें।

#5) क्या डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया के रोगियों को भी वायरस का संक्रमण हो सकता है?
अभी तक ऐसा कोई मामला सामने नहीं आया है। लेकिन अगर फेफड़े में कोई संक्रमण है या किसी भी बीमारी की वजह से रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो गई है तो संक्रमण का खतरा रहता है। इसमें भी जो 80 साल के बुजुर्ग हैं उनमें संक्रमण होने का खतरा ज्यादा है।

#6) कोरोनावायरस के संक्रमण में बुजुर्गों की क्या स्थिति है?
कोरोनावायरस भारत में ही नहीं बल्कि दुनियाभर में बुजुर्गों को प्रभावित कर रहा है क्योंकि उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है। उम्र ज्यादा होने पर बीमारियां भी कई होती हैं। कोरोना की लड़ाई हमारे इम्यून सिस्टम से होती है। ये वायरस सभी को अपनी चपेट में लेता है लेकिन दुनियाभर में 80 फीसदी मामलों में लक्षण नहीं दिखाई देते, खासकर युवाओं में। लेकिन यह बीमारी उम्रदराज लोगों के लिए खतरनाक है। इसलिए खासतौर पर उनका ध्यान रखने की जरूरत है। 

#7) वायरस के फैलाव में हाथों का क्या रोल है?
कोई व्यक्ति तभी संक्रमित होता है जब वायरस मुंह, नाक या आंख के जरिये उसके शरीर में पहुंचता है। कोरोनावायरस हाथों के जरिये ही मुंह या नाक तक पहुंचता है। आप के हाथ पर एक बार में लाखों वायरस बैठ सकते हैं। ऐसे में जरा सी चूक से वायरस मुंह में पहुंच सकता है। इसलिए बार-बार हाथ धोने की आदत डालें। न केवल कोरोना महामारी तक बल्कि ताउम्र इस आदत को अपने जीवन में अपनाएं ताकि दूसरी बीमारियों से भी बच सकें।

Related posts

कोरोना और पॉल्यूशन के बीच दिवाली: दीया-कैंडल जलाने से पहले सैनेटाइजर का इस्तेमाल न करें, सांस के मरीज इन्हेलर साथ रखें; दिवाली में ये 5 बातें याद रखें

Admin

टैरो राशिफल:शनिवार को मिथुन राशि के लोग खुद को कमजोर न समझें, कुंभ राशि के लोगों को मिल सकती है प्रसन्नता

News Blast

अप्रत्याशित लाभ वाला, पुरानी चिंताओं से मुक्ति मिलने और ऊर्जा की कमी वाला हो सकता है दिन

News Blast

टिप्पणी दें