April 17, 2024 : 7:23 AM
Breaking News
लाइफस्टाइल

रोज माउथवॉश करना भी है फायदेमंद, विशेषज्ञों की टीम ने कहा- इसके रसायन कोरोनावायरस की खोल भेद सकते हैं

  • शोधकर्ताओं के मुताबिक, माउथवॉश के जरिए वायरस को मुंह में खत्म करके गले तक पहुंचने से रोका जा सकेगा
  • माउथवॉश के रसायन कोरोनावायरस में ग्लाइकोप्रोटीन से बनी ऊपरी खोल को गलाकर भेदने में सक्षम हो सकते हैं

दैनिक भास्कर

May 16, 2020, 10:39 AM IST

लंदन. माउथवॉश कोरोनावायरस को खत्म कर सकता है और कोविड-19 से बचा सकता है। यह दावा अंतरराष्ट्रीय वायरस विशेषज्ञों की एक टीम ने किया है। शोधकर्ताओं का कहना है कि माउथवॉश कोशिका को संक्रमित करने से पहले ही कोरोनावायरस को खत्म कर सकता है।

दरअसल, कोरोनावायरस के चारों तरफ एक चर्बी से बनी खोल होती है जिसे माउथवॉश में मौजूद रसायन गला सकते हैं। इस तरह इसे मुंह में ही खत्म करके गले तक पहुंचने से रोका जा सकता है।  

मुंह की सफाई बेहद जरूरी

शोधकर्ता ओ-डोन्नेल के मुताबिक, माउथवॉश से गरारा करने की सलाह अब तक स्वास्थ्य अधिकारियों की तरफ से नहीं दी गई है। लेकिन यह शरीर में बाहरी चीजों का प्रवेश द्वार और एक ऐसा हिस्सा है जिसकी सफाई बेहद जरूरी है। कोरोना के दौर में तो पूरे मुंह का हाइजीन सही रखना बेहद जरूरी है। ये दांतों और पाचन के लिए भी अच्छा है।

इसमें संक्रमण को रोकने लायक रसायन

शोधकर्ताओं का कहना है कि माउथवॉश में क्लोरहेक्सिडिन ग्लूकोनेट, हाइड्रोजन परऑक्साइड और पोविडोन-आयोडीन जैसे रसायन होते हैं। इन सभी में संक्रमण को रोकने की क्षमता है। कोरोना की ऊपरी सतह ग्लाइकोप्रोटीन की होती है यही इम्यून सिस्टम पर हावी होते हुए शरीर में कोशिकाओं को संक्रमित करती हैं। 

 
ग्लाइकोप्रोटीन से बनी ऊपरी सतह को गलाने की
शोधकर्ताओं के मुताबिक, माउथवॉश में मौजूद रसायन कोरोनावायरस में ग्लाइकोप्रोटीन से बनी ऊपरी सतह को गलाने की कोशिश करते हैं। एक बार जब इसकी बाहरी सतह गलने लग जाती है तो यह वायरस कोशिकाओं को संक्रमित नहीं कर पाता है।

कई प्रमुख यूनिवर्सिटी के वायरस विशेषज्ञ शोध में शामिल
शोधकर्ताओं की टीम में कार्डिफ, नॉटिंघम, कोलोराडो, ओटावा, बार्सिलोना यूनिवर्सिटी के साथ कैंब्रिज बाब्राहम इंस्टीट्यूट के वायरस विशेषज्ञ शामिल हैं। रिसर्च यह दावा नहीं करती कि मार्केट में उपलब्ध सभी माउथवॉश कोरोनावायरस को खत्म कर देंगे लेकिन इसमें मौजूद रसायन कोरोना से बचाने में मददगार साबित होते हैं। ऐसे मॉउथवाश ब्रांड्स के बारे में अभी विशेषज्ञों ने कोई राय नहीं दी है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन अभी राजी नहीं
विश्व स्वास्थ्य संगठन डब्ल्यूएचओ का कहना है कि माउथवॉश से कोरोनावायरस को खत्म करने के प्रमाण नहीं मिले हैं। हालांकि माउथवॉश के कुछ ब्रांड ऐसे हैं जो लार में मौजूद कई तरह के सूक्ष्मजीवों को चंद सेकंड में ही खत्म करते हैं। लेकिन, विशेषज्ञों का ये भी कहना है कि इसके कारण लार में मौजूद अच्छे एंजाइम व सूक्ष्मजीव भी नष्ट हो सकते हैं।

Related posts

केदारनाथ में निरीक्षण करने पहुंचे राज्यमंत्री धनसिंह रावत की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव, मंदिर में पूजा भी की और 100 से ज्यादा लोगों से मिले भी

News Blast

मध्‍य प्रदेश में आज से फिर छा सकते हैं बादल, बढ़ेगा रात का तापमान, कुछ इलाकों में बौछारें पड़ने के आसार

News Blast

दक्षिण का विष्णु तीर्थ: 600 साल से ज्यादा पुराना है कूडल अझगर मंदिर, जमीन पर नहीं पड़ती इसके शिखर की परछाई

Admin

टिप्पणी दें