July 16, 2024 : 1:22 AM
Breaking News
MP UP ,CG

इंदौर के अनाथ आश्रम में 3 बच्‍चों की मौत, 12 अन्‍य बीमार

इंदौर के मल्हारगंज स्थित युगपुरुष धाम आश्रम में रह रहे 12 बच्चों की सोमवार को अचानक तबीयत खराब हो गई थी। आश्रम में करण और आकाश नामक बच्‍चे की जान गई है। पता चला है कि करण सोनकच्‍छ निवासी था। आकाश नर्मदापुरम निवासी बताया गया है। यह बालक कुछ माह पहले ही आश्रम लाया गया था। इससे पहले रविवार को भी एक बच्‍चे की मौत हो गई थी।

MP News: इंदौर के अनाथ आश्रम में 3 बच्‍चों की मौत, 12 अन्‍य बीमार, अलग-अलग कारण आ रहे सामनेयुगपुरुष धाम आश्रम के बीमार बच्चों को उपचार के लिए अस्‍पताल में भर्ती कराया गया।

मध्य प्रदेश के इंदौर में एक अनाथ आश्रम में 3 बच्‍चों की दो दिन में मौत हो गई। यह आश्रम शहर के मल्‍हारगंज क्षेत्र में स्थित है।पता चला है कि यहां युगपुरुष धाम आश्रम में रह रहे 12 बच्चों की सोमवार को अचानक तबीयत खराब होने के बाद इन्‍हें चाचा नेहरू अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इस आश्रम में 204 बच्‍चे हैं। फ‍िलहाल दो बच्‍चों की मौत का कारण फ‍िट आना बताया गया है। कलेक्‍टर ने मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं।

चाचा नेहरू अस्‍पताल पहुंचे कलेक्‍टर

रविवार को एक बच्‍चे की मौत के बाद एक बच्‍चे की मौत सोमवार रात में हुई। एक अन्‍य बच्‍चे ने मंगलवार सुबह दम तोड़ दिया। बच्‍चों की मौत की सूचना पर इंदौर कलेक्‍टर आशीष सिंह चाचा नेहरू अस्‍पताल पहुंचे।

खून में संक्रमण से बीमार होने की आशंका

naidunia_image

 

जानकारी मिली है कि बच्‍चों के खून में संक्रमण के कारण तबीयत बिगड़ी है। बच्‍चों को एमवाय अस्‍पताल से चाचा नेहरू अस्‍पताल उपचार के लिए रेफर किया गया।

पुलिस भी कर रही मामले की जांच

इसके बाद आज सुबह सात वर्षीय आकाश नामक बच्‍चे की भी मौत हो गई। बच्‍चों की मौत के बाद पुलिस भी इस मामले की जांच कर रही है। बच्‍चों की मौत के बाद आश्रम प्रबंधन ने बाल कल्‍याण समिति को पत्र लिखकर मामले की जानकारी दी है।

यह भी हो सकता है कारण

इंदौर कलेक्‍टर के अनुसार बच्‍चों की मौत डायरिया अथवा डि‍हाइड्रेशन और मिर्गी जैसी बीमारी से होने की आशंका है, लेकिन पूरी जांच के बाद ही स्‍पष्‍ट कारण पता चल सकेगा। कलेक्‍टर ने दो बच्‍चों की मौत की पुष्‍ट‍ि की है। उनके अनुसार एक बच्‍चे की मौत मिर्गी से होने का पता चला है।

मानसिक दिव्‍यांग बच्‍चों को रखा जाता है आश्रम में

शहर के पंचकुइया इलाके के इस आश्रम में मानसिक दिव्‍यांग बच्‍चों को रखा जाता है। इस आश्रम में वर्तमान में 200 से अधिक बच्‍चे हैं। इनमें 100 से अधिक बालक और इतनी ही बालिकाएं हैं। इस आश्रम की शुरुआत वर्ष 2006 में की गई थी। स्‍वामी परमानंद गिरि‍ के सानिध्‍य में यह आश्रम संचालित होता है।

Related posts

गाजियाबाद में बुजुर्ग की दाढ़ी काटने का मामला:योगी सरकार ने उमेद पहलवान पर NSA लगाया, धार्मिक भावनाएं भड़काने का आरोप; बुजुर्ग के साथ फेसबुक LIVE करके झूठ फैलाया था

News Blast

MP राज्य सायबर पुलिस का अलर्ट: कोविड-19 वैक्सीन रजिस्ट्रेशन के नाम पर धोखाधड़ी; पर्सनल फोटो से लेकर बैंकिंग के पासवर्ड और ई-मेल तक चुरा रहे, नाम दिया एसएमएस वोर्म

Admin

घर से 200 मीटर दूर छात्र की गोली मार कर हत्या, सेना में भर्ती की तैयारी कर रहा था

News Blast

टिप्पणी दें