June 18, 2024 : 2:17 AM
MP UP ,CG अन्तर्राष्ट्रीय करीयर क्राइम खबरें खेल टेक एंड ऑटो ताज़ा खबर बिज़नेस ब्लॉग मनोरंजन राज्य राष्ट्रीय लाइफस्टाइल हेल्थ

सांप पकड़ने में माहिर दो दोस्तों की रोचक कहानी, अब इस हुनर की वजह से मिलेगा पद्मश्री सम्मान

दोनों दोस्तों को सांप पकड़ने में महारत हासिल है और इन्हें ग्लोबल स्नेक एक्सपर्ट कहा जाता है। गोपाल और सदाइयां सिर्फ भारत ही नहीं, बल्कि दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में भी सांप पकड़ने के लिए जाते हैं। ये सांपों को पकड़ने के साथ दुनियाभर में लोगों को इसके बारे में जागरूक भी करते हैं।

Vadivel Gopal-Masi Sadaiyan
इस साल कई गुमनाम नायकों को पद्म पुरस्कार दिए जाने की घोषणा की गई है। इनमें तमिलनाडु के दो दोस्तों के नाम भी शामिल हैं और इनकी कहानी भी काफी रोचक है। इनके नाम हैं- वादिवेल गोपाल (Vadivel Gopal) और मासी सदाइयां (Masi Sadaiyan)। दोनों को इस बार पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। इन्हें सामाजिक कार्य (पशु कल्याण) के क्षेत्र में पद्मश्री मिला है।

दोनों दोस्तों को सांप पकड़ने में महारत हासिल है और इन्हें ग्लोबल स्नेक एक्सपर्ट कहा जाता है। गोपाल और सदाइयां सिर्फ भारत ही नहीं, बल्कि दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में भी सांप पकड़ने के लिए जाते हैं। ये सांपों को पकड़ने के साथ दुनियाभर में लोगों को इसके बारे में जागरूक भी करते हैं।दुनियाभर में घूम कर सांप पकड़ने का देते हैं प्रशिक्षण 
वादिवेल गोपाल और मासी सदाइयां का संबंध तमिलनाडु की इरुला जनजाति (Irula Tribe) से है, जो जहरीले सांप पकड़ने के लिए जानी जाती है। इरुला जनजाति ने देश के हेल्थकेयर इकोसिस्टम में काफी योगदान दिया है। उनके इस योगदान को सरकार भी मानती है। सांप पकड़ने में माहिर गोपाल और सदाइयां ने इसका कोई प्रशिक्षण नहीं लिया है। लेकिन दुनियाभर में घूम कर लोगों को सांप पकड़ने का प्रशिक्षण देते हैं। दोनों दोस्त सांप पकड़ने के लिए पुरानी तकनीक का ही इस्तेमाल करते हैं, जो इन्हें अपने पूर्वजों से मिली हैं।

Related posts

पुलिस ने नूंह में छापेमारी कर 2572 गाय की खाल पकड़ी, घरों और गोदामों में रखी मिली

News Blast

शोधकर्ताओं का दावा- बच्चों में कोरोना से मौत का खतरा काफी कम, संक्रमण के बाद ज्यादातर बच्चों में हल्के लक्षण दिखते हैं

News Blast

महाराष्ट्र में 8 जुलाई से खुल जाएंगे होटल, गेस्ट हाउस और लॉज, राज्य सरकार ने जारी की गाइडलाइन; देश में अब तक 7 लाख केस

News Blast

टिप्पणी दें