August 17, 2022 : 10:49 PM
Breaking News
MP UP ,CG अन्तर्राष्ट्रीय करीयर खबरें टेक एंड ऑटो ताज़ा खबर बिज़नेस ब्लॉग मनोरंजन महाराष्ट्र राज्य राष्ट्रीय लाइफस्टाइल हेल्थ

Maharashtra: 11 साल की बच्ची से नौ लोगों ने किया सामूहिक दुष्कर्म, हत्या की जांच के दौरान हुआ राजफाश

महाराष्ट्र के उमरेड कस्बे में 11 साल की बच्ची से नौ लोगों द्वारा सामूहिक दुष्कर्म की हैरान करने वाली खबर आई है। इन सभी को गिरफ्तार कर लिया गया है। पीड़िता के माता-पिता मजदूर हैं और मुख्य आरोपी नाबालिग लड़की के घर के पास ही रहता है।

वारदात का खुलासा हत्या के एक मामले की जांच के दौरान हुआ। नागपुर ग्रामीण की एसडीओपी पूजा गायकवाड़ ने यह जानकारी दी। पीड़िता से एक माह में कई बार सामूहिक दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया गया। उमरेड नागपुर शहर से लगभग 60 किलोमीटर दूर है। घटना 19 जून से 15 जुलाई के बीच हुई। नागपुर पुलिस के अनुसार शुभम दमडू हत्याकांड का मुख्य आरोपी रोशन करगांवकर इस मामले का भी मुख्य आरोपी है। चार दिन पहले नागपुर के उमरेड में शुभम भोजराज दमडू नाम के युवक की दो लोगों ने हत्या कर दी थी। मामले में रोशन समेत दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया था। उनसे पूछताछ में 11 साल की बच्ची के साथ आरोपी रोशन और उसके आठ साथियों द्वारा सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया।

आठवीं कक्षा में पढ़ती है पीड़िता
पुलिस के अनुसार पीड़िता आठवीं कक्षा में पढ़ती है। आरोपी रोशन उसे बहलाकर अपने घर ले गया था। वहां रोशन और उसके दोस्तों  ने बारी-बारी से उससे दुष्कर्म किया। इसके बाद उसे 300 रुपये दिए और धमकी दी थी कि अगर उसने इस बारे में किसी को बताया तो उसे जान से मार देंगे।

आरोपियों की पहचान रोशन करगांवकर (29) और उसके दोस्तों- गजानन मुर्स्कर (40), प्रेमदास गठीबंधे (38), राकेश महाकालकर (24), गोविंदा नाटे (22), सौरभ उर्फ करण रिठे (22), नितेश फुकत (30), प्रद्युम्न करुतकर (22) और निखिल उर्फ पिंकू नरूले (24) के रूप में हुई।

Related posts

केंद्र ने पहले विकल्प की उधारी सीमा को 1.1 लाख करोड़ किया, 2022 के बाद भी जारी रहेगा कंपनसेशन सेस

News Blast

बीना में छात्रावास अधीक्षक पर दुष्कर्म का केस:बेटे का चरित्र प्रमाण पत्र बनवाने पहुंची मां से अधीक्षक बोला- अच्छे छात्रावास में एडमिशन कराना हो तो मुझसे मिलो, नहीं तो बेटे को बर्बाद कर दूंगा

News Blast

कोरोना वैक्सीन जल्द बनाने का दबाव डालने से बड़ा खतरा, 70 साल पहले जल्दबाजी में बने पोलियो टीके से 70 हजार बच्चे दिव्यांग हो गए थे

News Blast

टिप्पणी दें