July 16, 2024 : 1:33 AM
Breaking News
MP UP ,CG क्राइम खबरें टेक एंड ऑटो ताज़ा खबर बिज़नेस

जबलपुर : चुनौती बने चोर चढ़े पुलिस के हत्थे, DGP के रिश्तेदार के घर की थी चोरी

जबलपुर, डेस्क रिपोर्ट। जबलपुर पुलिस के लिए चुनौती बन गया चोर आखिरकार पुलिस के हत्थे चढ़ गया, मध्यप्रदेश पुलिस के मुखिया के रिश्तेदार के घर चोरी करने वाले इस चोर को तलाशने पुलिस महकमे के अधिकारी और थानों का बल लगा था, उस बावजूद चोर पुलिस को छकाता रहा, वही DGP खुद इस मामलें में फॉलो अप ले रहे थे और वही वजह थे की यह चोरी पुलिस के लिए सिरदर्द बन गई थी। फिलहाल पुलिस ने नकबजनी करने वाले शातिर 3 चोरों को उत्तरप्रदेश के संभल जिले से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने सरगना सहित तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर चोरी गई चांदी की तीनों मूर्तियां भी जब्त कर लीं है।जबलपुर में 9 मई को संजीवनी थाने में नब्बे क्वार्टर निवासी बीएचईएल से रिटायर अधिकारी सुनील वर्मा ने चोरी की शिकायत दर्ज कराई थी। चोरी उनकी भाभी सुमित्रा वर्मा के सीओडी कॉलोनी स्थित घर में हुई थी। पति के निधन के बाद से सुमित्रा वर्मा बेटे के पास दिल्ली में रह रही हैं। उनके घर में ताला लगा रहता है। पड़ोसियों से घर में चोरी की सूचना पर उन्होंने देवर सुनील वर्मा को भेजा था। अज्ञात चोर घर से घर से तीन चांदी की मूर्तियां वजन लगभग 300 ग्राम चोरी कर ले गए थे। पुलिस ने भी इस मामलें में सामान्य चोरी मानकर पीड़ित परिवार को थाने से चलता कर दिया लेकिन जैसे ही यह बात सामने आई की सुनील वर्मा प्रदेश के मौजूदा डीजीपी सुधीर सक्सेना के रिश्तेदार हैं।तो हड़कंप मच गया। खुद डीजीपी ने जबलपुर एसपी से इस मामलें का फॉलोअप लिया।

संभल से गिरफ्तार हुए तीनों आरोपी लाए गए जबलपुर 

चुनौती बनी इस चोरी और चोर के लिए पुलिस ने टीम बनाई और क्लू मिलते ही स्थानीय संभल जिले की पुलिस की मदद से अमावती कुतुबपुर निवासी विजेंद्र (38) को दबोचा। उससे पूछताछ के आधार पर अकरौली संभल निवासी 24 वर्षीय नसीम और 22 वर्षीय इमरान को दबोचा। तीनों की निशानदेही पर चोरी गई तीनों चांदी की मूर्तियां भी जब्त की। तीनों को लेकर पुलिस आज सुबह जबलपुर पहुंची।

गिरोह अलग-अलग शहरों में चोरी के लिए ट्रेन से करता था सफर 

यह शातिर गिरोह ट्रेन से अलग-अलग राज्यों के शहरों में जाकर स्टेशन के आसपास रुकता था और फिर रेकी कर सूने मकानों की टोह लेते थे और रात में चोरी की वारदात को अंजाम देकर ट्रेन से निकल जाता है। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि इमरान व विजेंद्र 1 मई को जबलपुर आए थे। तब प्लेटफार्म नंबर 6 के पास किसी होटल में रुके थे। गिरोह ने पूछताछ में इस बात का भी खुलासा किया कि वह जबलपुर ही नहीं बल्कि भोपाल में भी चोरी की वारदात कर चुके है, उन्होंने एक महीने पहले भोपाल में भी रेलवे स्टेशन के पास किसी कॉलोनी में चोरी की थी।  जिसके बाद जबलपुर पुलिस ने भोपाल पुलिस को जानकारी दी अब आरोपियों को भोपाल पुलिस भी रिमांड पर लेने की तैयारी में है। वही इसके साथ ही पुलिस ने संभल (यूपी) पुलिस से तीनों आरोपियों के पूर्व का रिकॉर्ड मांगा है। बताया जा रहा है कि बेरोजगारी और गरीबी झेल रहे विजेंद्र ने चोरी को अपना पेशा ही बना लिया। उसके इस काम में उसका बड़ा भाई भी जो शातिर चोर है साथ देता था। हालांकि अभी वो चोरी के मामले में जेल में बंद है।

Related posts

सरकारी बांड के जरिए सरकार जुटाती है किसी विशेष काम के लिए पैसा, इसमें निवेश करना है सुरक्षित

News Blast

सोने की कीमतें 66 रुपए गिरकर 50,692 रुपए प्रति 10 ग्राम तक पहुंची; चांदी 104 रुपए गिरकर 61,837 रुपए प्रति किग्रा हुई

News Blast

पीएम बीमा सुरक्षा योजना में सिर्फ 1 रुपए महीने में मिलता है 2 लाख रुपए का इंश्योरेंस, बुरे वक्त में आपको और आपके परिवार को मिलती है आर्थिक मदद

News Blast

टिप्पणी दें