March 4, 2024 : 1:00 PM
Breaking News
MP UP ,CG Other अन्तर्राष्ट्रीय करीयर क्राइम खबरें खेल टेक एंड ऑटो ताज़ा खबर ब्लॉग महाराष्ट्र राज्य राष्ट्रीय लाइफस्टाइल हेल्थ

Budget 2022: देश में स्टार्टअप माहौल को बढ़ावा देने की तैयारी, जानिए बजट में क्या कुछ हुआ ऐलान

नई दिल्ली. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने मंगलवार को अगले वित्तीय वर्ष 2022-2023 के लिए आम बजट का ऐलान करते हुए देश में स्टार्टअप इकोसिस्टम (Startup Ecosystem) को बढ़ावा देने के लिए कई उपायों का प्रस्ताव दिया है. उन्होंने अपने बजट भाषण में कहा कि सूचीबद्ध इक्विटी शेयरों, यूनिट्स आदि पर दीर्घकालिक पूंजीगत लाभ (Long Term Capital Gain) पर अधिकतम 15 प्रतिशत अधिभार (सरचार्ज) होगा, जबकि अन्य दीर्घकालिक पूंजीगत लाभ पर ग्रेडेड अधिभार 37 प्रतिशत तक है.उन्होंने कहा, “मैं किसी भी प्रकार की संपत्ति के हस्तांतरण पर उत्पन्न होने वाले दीर्घकालिक कैपिटल गेन पर सरचार्ज को 15 प्रतिशत तक सीमित करने का प्रस्ताव कर रही हूं. यह कदम स्टार्टअप समुदाय को बढ़ावा देगा और विनिर्माण कंपनियों और स्टार्टअप्स को कर लाभ देने के मेरे प्रस्ताव के साथ आत्मनिर्भर भारत के प्रति हमारी प्रतिबद्धता की पुष्टि करता है.”

सरकार के इस प्रस्ताव का एसडब्ल्यू इंडिया के इंटरनेशनल टैक्स के प्रैक्टिस लीडर सौरव सूद ने भी समर्थ किया. उन्होंने कहा, “इस कदम से स्टार्टअप्स में लंबी अवधि के इक्विटी निवेश को बढ़ावा मिलेगा और यह उन व्यक्तिगत निवेशकों के लिए फायदेमंद है, जिनके पास 12 महीने से अधिक समय से शेयर हैं और इसे बेच रहे हैं.”

सरकार कृषि स्टार्टअप और ग्रामीण उद्यमों के वित्तपोषण के लिए नाबार्ड के माध्यम से सह-निवेश मॉडल के तहत जुटाई गई मिश्रित पूंजी के साथ एक कोष की सुविधा भी देगी. वित्तमंत्री ने कहा, ‘‘यह कृषि उपज मूल्य श्रृंखला के लिए प्रासंगिक कृषि और ग्रामीण उद्यम के लिए स्टार्टअप का वित्तपोषण करने के लिए है.’’

उन्होंने कहा कि इन स्टार्टअप की गतिविधियों में किसान-उत्पादक संगठनों (एफपीओ) के लिए अंतर-क्षेत्रीय समर्थन, किसानों के हित में खेती के लिए किराये पर मशीनरी उपलब्ध कराना इत्यादि जैसे काम शामिल होंगे.

कृषि स्टार्टअप ने बजट में खेती पर प्रस्तावों का किया स्वागतवित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संसद में वित्त वर्ष 2022-23 के बजट में देशभर के किसानों को डिजिटल और हाई-टेक सेवाओं के वितरण के लिए किसान ड्रोन, रसायन मुक्त प्राकृतिक खेती और सार्वजनिक-निजी भागीदारी को बढ़ावा देने का प्रस्ताव किया गया है. सिन्जेंटा इंडिया के चीफ सस्टेनेबिलिटी ऑफिसर के सी रवि ने कहा, “अर्थव्यवस्था तेजी लौटने की पृष्ठभूमि में बजट ने कृषि को टिकाऊ उच्च वृद्धि के पथ पर ले जाने की नींव रखी है.”

गोदरेज एग्रोवेट के प्रबंध निदेशक बलराम यादव ने कहा कि यह एक संतुलित बजट है जो बुनियादी ढांचे को बढ़ावा देने, प्रोत्साहन और तकनीकी प्रोत्साहन के साथ कृषि क्षेत्र का समर्थन करने पर केंद्रित है. धानुका एग्रिटेक ग्रुप के चेयरमैन आर जी अग्रवाल ने कहा कि गति शक्ति योजना के माध्यम से बुनियादी ढांचे को बढ़ाने पर सरकार का ध्यान और विभिन्न कृषि गतिविधियों के लिए ड्रोन के उपयोग को बढ़ावा देने पर ध्यान देना एक स्वागत योग्यकदम है और इससे कृषि क्षेत्र को काफी मदद मिलेगी.

Related posts

न्यूजीलैंड में 3 जून से प्रो टेनिस टूर्नामेंट, महामारी के बाद यह पहला इवेंट; केन्या में सड़क पर ताइक्वांडो वर्ल्ड कप की तैयारी

News Blast

IBPS क्लेरिकल कैडर भर्ती परीक्षा 2021:देश के 11 सरकारी बैंकों में क्लर्क भर्ती के लिए जारी हुई अधिसूचना, 20 से 28 वर्ष तक के युवा अंतिम तिथि 1 अगस्त तक कर सकेंगे आवेदन

News Blast

नई शिक्षा नीति को एक साल पूरे: प्रधानमंत्री मोदी आज देशभर के टीचर्स और स्टूडेंट को संबोधित करेंगे, एजुकेशन से जुड़ी योजनाएं लॉन्च करेंगे

Admin

टिप्पणी दें