November 29, 2021 : 11:07 AM
Breaking News
MP UP ,CG Other अन्तर्राष्ट्रीय खबरें राज्य राष्ट्रीय

पीएम मोदी के माफ़ी मांगने से किसानों को फ़सल के दाम नहीं मिल जाएंगे’: राकेश टिकैत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से तीनों विवादास्पद कृषि क़ानून की वापसी की घोषणा के बाद संयुक्त किसान मोर्चा ने सोमवार को लखनऊ में किसान महापंचायत का आयोजन किया.

पीएम मोदी के इन क़ानूनों को वापस लेने की घोषणा के बाद मोर्चे की यह पहली बड़ी जनसभा थी जिसे उत्तर प्रदेश के आगामी चुनावों के मद्देनजर एक शक्ति प्रदर्शन के रूप में देखा जा रहा है.

महापंचायत की अगुवाई भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने की और मंच से भाषण देते हुए कहा, “क़ानूनों को वापस लेने की घोषणा तो की लेकिन कटाक्ष के साथ. बात तो ठीक की कि वापस ले रहा हूँ लेकिन इसके बाद भी किसानों को बांटने का काम किया. कहा कि हम कुछ लोगों को समझाने में नाकाम रहे, देश से माफ़ी मांगते हैं. देश का प्रधानमंत्री न देश से माफ़ी मांगे, न ही माफ़ी मांगने से इन किसानों को फसलों के रेट मिलेंगे.”प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए राकेश टिकैत ने उनकी नीयत पर सवाल लिया और कहा कि, “हमारे मसले बहुत हैं, सरकार हमसे बातचीत करे. देश के प्रधानमंत्री ने बहुत मीठी बात की. शहद से भी मीठी आवाज़ थी. हमको ख़तरा लगता है. कमज़ोर नहीं, हम चाहते हैं कि देश का प्रधानमंत्री मज़बूत रहे लेकिन हमारे मसले भी ठीक करे. हम नहीं चाहते कि दुनिया यह कहे कि प्रधानमंत्री ने माफ़ी मांगी ना, आप सख्त होकर बात करो लेकिन हमारे मसलों का समाधान करो, मसलों का समाधान नहीं होगा, तो आंदोलन आपके ख़िलाफ़ होगा.”

Related posts

ममता संसद में करेंगी मोर्चाबंदी:बिना सांसद बने तृणमूल संसदीय दल की नेता बनीं बंगाल की CM, 2024 की रणनीति के लिए बड़ा कदम

News Blast

छत्तीसगढ़ की गवर्नर अनुसुइया उइके को कार्यवाहक राज्यपाल का प्रभार मिल सकता है

News Blast

सीएम की पहल:बहुगुणा को भारत रत्न से सम्मानित करने के लिए केजरीवाल ने पीएम को लिखा पत्र

News Blast

टिप्पणी दें