April 15, 2024 : 5:31 PM
Breaking News
Uncategorized

तीन हिस्सों में बांट कर बिताएं समय; करने को महत्वपूर्ण काम भी होंगे, दिन के अंत में अच्छा भी महसूस करेंगे

दैनिक भास्कर

Apr 07, 2020, 10:10 AM IST

इस वक्त हम बाहर नहीं जा सकते। हमें भीतर ही बैठना है। कई लोगों ने इसका मतलब यह निकाल लिया कि हर समय वेबसीरीज या टीवी देखना और सोशल मीडिया पर फालतू संदेशों को इधर से उधर करना। इस वक्त अधिकांश लोग समय कैसे कटे, यह सोच रहे हैं, जबकि यह आपके जीवन का सबसे शक्तिशाली और क्रांतिकारी समय हो सकता है, बशर्ते आप अपने हर दिन को तीन हिस्सों में बांट सकें। 

1. व्यक्तिगत श्रेष्ठता : व्यक्तित्व के तीन हिस्से होते हैं- मस्तिष्क, शरीर और अंतरात्मा। इन तीनों की श्रेष्ठता के लिए हम हर दिन तीन घंटे निकालें। मस्तिष्क के लिए अच्छी किताबें पढ़िए। हर दिन कम से कम 50 पेज पढ़ने का प्रयास करें और मुझे पढ़ना पसंद नहीं है, जैसे बहानों को किनारे कर दीजिए। शरीर के लिए घर पर ही तब तक जमकर कसरत व योग करें, जब तक कि पसीने से लथपथ ना हो जाएं। अंतरात्मा के लिए कुछ देर ध्यान (मेडिटेशन) करें और नहीं आता हो तो सीखें क्योंकि दुनिया का हर सफल व्यक्ति यह जरूर करता है। इस अवधि में दूसरों की हरसंभव मदद कीजिए क्योंकि उससे आपको आतंरिक संतुष्टि महसूस होगी।  

2. बिजनेस और कॅरिअर की श्रेष्ठता : इस समय भले ही बिजनेस बंद है, लेकिन आपका दिमाग तो चालू है। हर दिन तीन घंटे इस क्षेत्र के लिए तय करें। अपनी फाइलों और कागजों को व्यवस्थित करें। अपने व्यापारिक क्षेत्र में होने वाले नए सुधारों पर गौर करें। अपने कॅरिअर और व्यापार में नई पॉलिसियों व प्रोसेस बनाने पर काम करें। यदि आपको अब तक कॅरिअर या व्यापार में वांछित सफलता नहीं मिल सकी है तो इस अवधि में वैसे वीडियोज देखें, वैसी पुस्तकें पढ़ें, ऑनलाइन कोर्सेज करें जो आपका मार्गदर्शन कर सकें। इस अवधि को अपने जीवन की सबसे क्रांतिकारी अवधि बनाएं।

3. पारिवारिक श्रेष्ठता : हर दिन अपने बच्चों को क्वालिटी टाइम दीजिए, उनको कुछ शानदार कहानियां सुनाइए, उनकी बातों को धैर्य से सुनिए और अपने जीवन के अनुभव उनके साथ शेयर कीजिए। उनको भी घर बैठे कोई हुनर सीखने के लिए प्रेरित कीजिए। अपने बुजुर्ग माता-पिता के साथ भी खूब वक्त बिताइए। आप अपने जीवनसाथी के कामों में हाथ बंटा सकते हैं। अभी समस्या यह हो गई है कि पारिवारिक वक्त के नाम पर हम सबके हाथों में मोबाइल और आंखों के सामने टीवी है। हर व्यक्ति वाट्सएप के शोरूम में अफवाह नामक कंपनी का सेल्समैन बनकर बैठा है। इन सबसे आजाद हो जाइए।

यदि आप वक्त को इन तीन हिस्सों में बांटकर बिताते हैं तो हर दिन आपके पास करने के लिए महत्वपूर्ण काम होंगे और दिन के अंत में आप अपने बारे में अच्छा महसूस करेंगे। ऐसा जीवन जिएंगे तो कोरोना प्रभाव के बाद आप जीवन के विभिन्न आयामों में और ज्यादा शक्तिशाली होकर उभरेंगे।

टिप्पणी दें