July 24, 2024 : 5:33 PM
Breaking News
Uncategorized

दुनिया में 91% बच्चे नहीं जा पा रहे स्कूल, ऑनलाइन पढ़ने में मददगार 12 प्लेटफॉर्म

  • 66%वयस्क ऑनलाइन एजुकेशन पसंद कर रहे हैं, पियरसन स्टडी के मुताबिक
  • 91%से ज्यादा छात्र जनसंख्या दुनियाभर में इन दिनों स्कूल नहीं जा पा रही है
  • 150 अरब रुपए हो जाएगा भारत का ऑनलाइन एजुकेशन का बाजार 2021 में

दैनिक भास्कर

Apr 15, 2020, 10:25 AM IST

देश में ऑनलाइन एजुकेशन पहले ही तेजी से बढ़ रहा था, लेकिन कोरोना वायरस की वजह से इसमें अप्रत्याशित तेजी आ गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक लॉकडाउन के बीच ऑनलाइन कोर्सेस में तीन गुना तक बढ़ोतरी हुई है। कुछ ऑनलाइन प्लेटफॉर्म्स का दावा है कि पिछले साल के इसी समय की तुलना में इस बार 505% नए रजिस्ट्रेशन हुए हैं। जहां कई स्कूल ऑनलाइन क्लासेस चला रहे हैं, वहीं भारत सरकार ने भी डिजिटल एजुकेशन को बढ़ाने के प्रयास तेज कर दिए हैं। जानिए कुछ चर्चित ई-एजुकेशन प्लेटफॉर्म्स के बारे में।

ई-लर्निंग और कोर्सेस के लिए सरकार के 5 मुफ्त प्लेटफॉर्म

इलिस पोर्टल (ELIS portal)

किसके लिए है: जो स्किल्स बढ़ाने के लिए कोर्स करना चाहते हैं

कहां मिलेगा: free.aicte-india.org

एआईसीटीई एआईसीटीई ने इस मुफ्त पोर्टल की शुरुआत की है। यह ‘इनहेंसमेंट इन लर्निंग विद इम्प्रूवमेंट इन स्किल्स’ (ईएलआईएस) पोर्टल है। इसमें कई मुफ्त कोर्सेस उपलब्ध हैं, जिनमें मशीन लर्निंग, प्रोग्रामिंग, डिजिटल मार्केटिंग जैसे कई तरह के कोर्स शामिल हैं। एआईसीटीई ने 18 ऑनलाइन एजुकेशन कंपनियों से टायअप किया है, जो 26 कोर्स दे रही हैं। कोर्सेस मुफ्त पाने के लिए 15 मई तक रजिस्ट्रेशन कराना जरूरी है।

स्वयं (SWAYAM)

किसके लिए है: कक्षा 9 से पोस्ट ग्रेजुएशन तक के छात्रों के लिए।

कहां मिलेगा: swayam.gov.in, एप भी उपलब्ध है।

इस पर भी कई मुफ्त कोर्स हैं। यहां आर्कीटेक्चर, आर्ट्स, लॉ, गणित, विज्ञान से लेकर कई विषयों के कोर्स हैं। कोर्स को चार हिस्सों में बांटा गया है, वीडियो लेक्चर, रीडिंग मटेरियल, सेल्फ-असेसमेंट टेस्ट और ऑनलाइन डिस्कशन फोरम। 1000 शिक्षकों द्वारा तैयार रीडिंग मटेरियल को डाउनलोड कर सकते हंै। अगर ‘स्वयं’ सर्टिफिकेट चाहिए तो रजिस्ट्रेशन करना होगा और परीक्षाओं के लिए मामूली फीस देनी होगी।

दीक्षा (DIKSHA)

किसके लिए है: शिक्षकों और पहली से 12वीं के छात्रों के लिए।

कहां मिलेगा: diksha.gov.in और एप भी उपलब्ध है।

इस पोर्टल पर शिक्षकों और छात्रों के लिए शिक्षण सामग्री है। केवल 12वीं कक्षा के लिए ही 80 हजार से ज्यादा ई-बुक्स हैं, जिन्हें सीबीएसई, एनसीईआरटी और राज्य शिक्षा बोर्ड्स ने तैयार किया है। किताबें 8 भाषाओं में उपलब्ध हैं। इसका उद्देश्य है कि फिजिकल क्लासरूम मौजूद न होने की स्थिति में भी बच्चों की पढ़ाई न रुके। लर्निंग मटेरियल देखने के लिए टेक्स्टबुक में मौजूद क्यूआर कोड को भी स्कैन कर सकते हैं।

एनआरओईआर (NROER)

किसके लिए है: स्कूल-कॉलेज से लेकर नौकरीपेशा लोगों के लिए।

कहां मिलेगा: nroer.gov.in

नेशनल रिपॉजिटरी ऑफ ओपन एजुकेशनल रिसोर्सेस (NROER) के तहत ई-लाइब्रेरी, ई-बुक्स और ई-कोर्सेस की रिपॉजिटरी (कोष) तैयार की गई है। हिन्दी और अंग्रेजी में उपलब्ध इस पोर्टल में 14 हजार से ज्यादा फाइल्स हैं, जिनमें 3000 से ज्यादा डॉक्यूमेंट्स, 1300 से ज्यादा सेशंस, करीब 1600 ऑडियोज और 6100 से ज्यादा वीडियो हैं। क्लासरूम में चल रहे लेसंस से जुड़ने के लिए इसमें एनरोल भी कर सकते हैं। साथ ही ऑनलाइन टेस्ट भी उपलब्ध हैं।

ई-पाठशाला (E-Pathshala)

किसके लिए है: पहली से 12वीं कक्षा तक के छात्रों के लिए।

कहां मिलेगा: epathshala.gov.in, एप भी उपलब्ध। 

एनसीईआरटी के इस प्लेटफॉर्म पर पहली से बारहवीं तक की सभी विषयों की किताबें मुफ्त उपलब्ध हैं। इसके अलावा भी इन कक्षाओं के लिए पढ़ाई संबंधी कई ई-रिसोर्सेस हैं। ई-पाठशाला एप 27 लाख से ज्यादा बार डाउनलोड हो चुकी है। इसमें 500+ ई-बुक्स, 2000+ वीडियो और 1800+ ऑडियो हैं। ऑनलाइन किताबों को पढ़ना आसान बनाने के लिए सिलेक्ट, जूम, हाइलाइट और बुकमार्क जैसे ऑप्शन भी एप पर उपलब्ध हैं।

ऑनलाइन कोर्सेस और क्लासेस के 7 प्लेटफॉर्म

बायजूस

कहां मिलेगा- byjus.com>

यह प्लेटफॉर्म चौथी क्लास के बच्चों से लेकर जेईई, कैट जैसी परीक्षाओं तक के लिए लर्निंग प्रोग्राम उपलब्ध करवाता है। यह देश की सबसे ज्यादा चलने वाली एजुकेशन साइट है और इसपर 3.5 करोड़ से ज्यादा बच्चे रजिस्टर्ड हैं। छोटे बच्चों के लिए डिज्नी बायजूस एप भी है।

कोर्सेरा

कहां मिलेगा- coursera.org>

इसमें 140 कॉलेज और यूनिवर्सिटीज से संबद्ध 1000 से ज्यादा कोर्सेस हैं। इनमें जेटा साइंस, फोटोग्राफी, बिजनेस जैसे कई एडवांस डिग्री और स्पेशलाइजेशन कोर्स उपलब्ध हैं। इसका एप एक करोड़ से ज्यादा बार डाउनलोड हो चुका है।

यूडिमी

कहां मिलेगा- udemy.com>

ऑनलाइन एजुकेशन के मामले में ग्लोबल ब्रांड बन चुका यूडिमाय कई पेशवर कोर्स करवाता है। इस एजुकेशनल वेबसाइट से दुनियाभर में 5 करोड़ से ज्यादा छात्र जुड़े हुए हैं। करीब 1.5 लाख कोर्स उपलब्ध कराने वाले इस प्लेटफॉर्म पर 57 हजार इंस्ट्रक्टर मौजूद हैं।

अनएकेडमी

कहां मिलेगा: unacademy.com>

यह प्लेटफॉर्म एक प्रकार से ऑनलाइन कोचिंग क्लास है। इसके जरिए रेलवे, डिफेंस, जेईई, नीट, गेट, सीए, सीएस जैसे कई प्रतियोगी परीक्षाओं की ऑनलाइन तैयारी की जा सकती है। कभी यूट्यूब चैनल के रूप में शुरू हुए इस प्लेटफॉर्म से करीब 2 करोड़ स्टूडेंट जुड़े हुए हैं।

टॉपर

कहां मिलेगा: toppr.com>

कक्षा कक्षा 5वीं से 12वीं के बच्चों के लिए उपलब्ध यह प्लेटफॉर्म स्कूल की पढ़ाई के साथ प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करवाता है। इसमें लाइव क्लासेस, स्टडी मटेरियल जैसे फीचर्स हैं। सीबीएसई, आईसीएसई और 18 स्टेट बोर्ड्स से जुड़े कोर्सेस हैं।

वेदांतु

कहां मिलेगा: vedantu.com>

यह टीचर्स और स्टूडेंट्स को जोड़ने का काम करता है। इससे कई क्वालिफाइड टीचर्स जुड़े हैं जो छठवीं से लेकर बारहवीं और कई प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी से जुड़ी ऑनलाइन क्लासेस देते हैं। इसके अलावा रिकॉर्डेड वीडियोज भी उपलब्ध हैं।

टिप्पणी दें